--Advertisement--

257 साल पहले अंग्रेजों ने पांडिचेरी को फ्रांस के कब्जे

257 साल पहले अंग्रेजों ने पांडिचेरी को फ्रांस के कब्जे से छुड़ाकर अपने अधीन कर लिया था 1761- आज ही के दिन ब्रिटेन ने...

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 08:05 AM IST
257 साल पहले अंग्रेजों ने पांडिचेरी को फ्रांस के कब्जे से छुड़ाकर अपने अधीन कर लिया था

1761- आज ही के दिन ब्रिटेन ने पांडिचेरी को फ्रांस के कब्जे से मुक्त कराया था। दरअसल, अगस्त 1639 को ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने विजयनगर के राजा पेडा वेंकट राय से कोरोमंडल तट चंद्रगिरी में कुछ जमीन खरीदी। इस जमीन पर राय ने अंग्रेज व्यापारियों को यहां एक फैक्ट्री और गोदाम बनाने की अनुमति दी थी। एक साल बाद ब्रिटिश व्यापारियों ने यहां सेंट जॉर्ज किला बनवाया, जो औपनिवेशिक गतिविधियों का गढ़ बन गया, लेकिन प्रथम कर्नाटक युद्ध में इंग्लैंड को हराकर फ्रांसीसी फौजों ने 1746 में मद्रास और सेंट जॉर्ज के किले पर अपना कब्जा जमा लिया। इस पर कब्जे के लिए कर्नाटक के तीन युद्ध हुए। 1760 में ब्रिटिश सेना ने सर आयरकूट के नेतृत्व में वाडिवाश की लड़ाई में फ्रांसीसियों को बुरी तरह से मात दी। इसके बाद पांडिचेरी पर अंग्रेजों का दोबारा कब्जा हो गया।

खास  चेन्नई से 160 किमी दूर पुडुचेरी (पांडिचेरी) है। यहां अधिकतर लोग फ्रेंच बोलते हैं। सड़क पर साइन बोर्ड में तमिल, अंग्रेजी के साथ-साथ फ्रेंच भाषा भी दिखती है।