Hindi News »Rajasthan »Vijay Nagar» 12 वर्ष बाद दंपती एक साथ रहने को राजी हुए तीन बच्चों को अब मिलेगा माता-पिता का प्यार

12 वर्ष बाद दंपती एक साथ रहने को राजी हुए तीन बच्चों को अब मिलेगा माता-पिता का प्यार

भास्कर संवाददाता|श्रीविजयनगर शनिवार का दिन 14 वर्षीय हर्ष और उसकी दो छोटी बहनों के लिए खुशियों की सौगात लेकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 15, 2018, 06:55 AM IST

12 वर्ष बाद दंपती एक साथ रहने को राजी हुए तीन बच्चों को अब मिलेगा माता-पिता का प्यार
भास्कर संवाददाता|श्रीविजयनगर

शनिवार का दिन 14 वर्षीय हर्ष और उसकी दो छोटी बहनों के लिए खुशियों की सौगात लेकर आया। लोकअदालत में तीनों बहन भाइयों के माता-पिता ने फिर से एक साथ जिंदगी जीने का फैसला लिया। नवीन सोनी व रितु सोनी के बीच 12 साल से कोर्ट में केस चल रहा था। दोनों अलग-अलग रह रहे थे। दोनों के बीच दहेज को लेकर मुकदमेबाजी शुरू हुई। कई बार पंचायतें भी हुई। अब रितु सोनी ने जीवन निर्वाह भत्ते के लिए वाद पेश किया हुआ था। भगवानदास सोनी के वकील प्रेम चुघ और रीतू सोनी के वकील नवीन मिड्ढा ने भी समझाइश में अहम भूमिका अदा की। न्यायाधीश मोहनलाल बेदी की लोकअदालत में राजीनामा होने के बाद दोनों फिर से एक साथ रहने का फैसला लेते हुए एक दूसरे का मुंह मीठा करवाया। रीतू सोनी निवासी घड़साना की 17 साल पहले भगवानदास सोनी निवासी बिलोचियान के साथ शादी हुई थी। 5 वर्ष बाद ही किसी गलतफहमी की वजह से दोनों में विवाद शुरू हुआ। दोनों अलग-अलग रहने लगे। इसका असर ये रहा की तीनों बच्चों को भी तनावपूर्ण माहौल में रहना पड़ा। मां-बाप का एक साथ प्यार नहीं मिल पाया। शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में न्यायिक विभाग के कर्मचारी अशीषकुमार, अर्जुन बिश्नोई, रामाकांत मिश्रा, बार संघ अध्यक्ष एडवोकेट शेराराम ओड, नरेश पुरी और अन्य अधिवक्ताओं के सहयोग से 6 मामलों का निस्तारण किया गया। लेन-देन व चेक अनादरण के 9 मामलों का निपटारा कर 5.59 लाख रुपए से अधिक की राशि न्यायालय ने वादियों को दिलवाई। वैवाहिक विवाद के 2 मामले व अन्य 2 मामलों का निस्तारण किया गया। लोकअदालत में 27 मामलों निपटारा किया।

लोक अदालत

दहेज प्रताड़ना से हुई शुरुआत, मामला निर्वाह भत्ते तक पहुंचा, पंचायतें भी हुई थी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Vijay Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×