• Hindi News
  • Rajasthan
  • Vijay Nagar
  • राजपरिवार के करीबी रहे मंडी समिति चेयरमैन ने पत्नी की गोली मारकर की थी हत्या, दोषी को उम्रकैद
--Advertisement--

राजपरिवार के करीबी रहे मंडी समिति चेयरमैन ने पत्नी की गोली मारकर की थी हत्या, दोषी को उम्रकैद

श्रीगंगानगर| बंदूक से गोली मारकर प|ी की हत्या करने के दोषी पति को आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया गया है। यह...

Dainik Bhaskar

Jul 27, 2018, 07:35 AM IST
राजपरिवार के करीबी रहे मंडी समिति चेयरमैन ने पत्नी की गोली मारकर की थी हत्या, दोषी को उम्रकैद
श्रीगंगानगर| बंदूक से गोली मारकर प|ी की हत्या करने के दोषी पति को आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया गया है। यह निर्णय गुरुवार को जिला एवं सेशन न्यायालय के न्यायाधीश नरेंदर कुमार ढड्ढ़ा ने सुनाया। आरोपी को आत्महत्या की कोशिश के दोषी पाए जाने पर एक साल और अवैध बंदूक रखने पर भी एक साल कारावास की सजा सुनाई गई है। तीनों सजा साथ-साथ चलेंगी और तीनों में क्रमश: 5 और दो-दो हजार रुपए जुर्माना भी लगाया गया है। दोषी राजेंद्रसिंह राजपूत पुत्र भीमसिंह राजपूत मूलत: नागौर जिले के खुनखुना थाना क्षेत्र के गांव सानिया का रहने वाला है और वारदात के दौरान श्रीविजयनगर में शिवपुरी गढ़ में रानी माधुरीसिंह के पास रहता था। आरोपी ने 9 अप्रैल 2012 को दोपहर में अपनी प|ी अन्नु कंवर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आरोपी को वारदात के बाद मौके पर पहुंचे थानाधिकारी सवाईसिंह ने आत्महत्या की कोशिश करते गिरफ्तार कर लिया था। तब से आरोपी न्यायिक अभिरक्षा में ही था। यह मामला श्रीविजयनगर न्यायिक मजिस्ट्रेट से जिला मुख्यालय पर महिला उत्पीड़न एवं दहेज मामले की विशेष अदालत में आया। वहां से क्षेत्राधिकार के कारण 2 फरवरी 2015 को जिला एवं सत्र न्यायालय में भेजा गया।

भास्कर पड़ताल

1.परिवादी 4 बीएलडी निवासी प्रेमचंद ने एफआईआर में बताया कि राजेंद्रसिंह ने बंदूक से अन्नु कंवर की हत्या की। कोर्ट में बयानों से मुकर गया। पुलिस ने आरोपी के कक्ष से उसी 12 बोर की बिना लाइसेंसी बंदूक को बरामद किया, जिससे गोली चलाई गई थी।

2.परिवादी ने एफआईआर में बताया कि गोली की आवाज सुनकर वह मौके पर पहुंचा तब आरोपी बंदूक लेकर उसके पास खड़ा था। कोर्ट में इससे भी बदल गया। पुलिस ने जांच में साबित किया कि आरोपी घटना के समय मौके पर ही था, उसके पहने कपड़ों पर मृतका के खून के निशान साबित हुए।

3.आरोपी ने कोर्ट में बयान दिया कि वह घटना के समय मौके पर नहीं था। थानाधिकारी ने साबित किया कि घटना के बाद आरोपी ने खिड़की का कांच तोड़कर नीचे कूदने की कोशिश की। अन्नु कंवर को जिंदा पुलिस ने अस्पताल पहुंचाया। इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हुई।

नौकर ने करवाई एफआईआर, कोर्ट में बयान बदला, पुलिस ने साबित किया हत्यारा

आरोपी के कक्ष से बरामद हुई तीन टुकड़ों में अवैध बंदूक

जांच अधिकारी ने आरोपी के कक्ष से उस 12 बोर की बंदूक को बरामद किया, जिससे गोली चलाई गई थी। आरोपी के पास उसका लाइसेंस नहीं था। आरोपी ने गोली मारने के बाद उसको तीन टुकड़ों में अलग करके छुपा दिया। पुलिस ने इस बंदूक से चली गोली के खोल, बारूद और हाथ के निशान तक एफएसएल से साबित कर दिए।

आरोपी कई साल रहा शिवपुरी, मंडी समिति का चेयरमैन बना

परिवादी की ओर से दर्ज करवाई गई एफआईआर में बताया गया कि आरोपी राजेंद्रसिंह कई सालों से शिवपुरी में रानी माधुरी सिंह के पास रहता था। वह कृषि उपज मंडी समिति अध्यक्ष पद का चुनाव जीतकर चेयरमैन बन गया था। इसके बाद उसे शराब की बहुत लत हो गई। प|ी को भी बाद में साथ रहने को लेकर आया था।

कोर्ट की टिप्पणी

हत्या से बड़ा कोई जुर्म नहीं, दोषी को सजा में रियायत दी तो समाज में गलत सन्देश जाएगा

इस मामले में आरोपी की ओर से अदालत में दोष साबित होने पर सजा में रियायत करने की गुहार लगाई गई। अदालत ने आदेश में टिप्पणी की कि किसी की हत्या से बड़ा कोई जुर्म नहीं होता। दोषी को सजा में रियायत की गई तो समाज में संदेश गलत जाएगा। सजा कठोर ही मिले ताकि अन्य लोग ऐसे अपराध करने से डरें।

X
राजपरिवार के करीबी रहे मंडी समिति चेयरमैन ने पत्नी की गोली मारकर की थी हत्या, दोषी को उम्रकैद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..