• Hindi News
  • Rajasthan
  • Rawatbhata - in spite of the order the bank is not giving the transaction information the collector complains
--Advertisement--

आदेश के बावजूद बैंक नहीं दे रहे लेनदेन की जानकारी, कलेक्टर को शिकायत

रावतभाटा|विधानसभा चुनाव में धनबल व प्रलोभन पर पाबंदी लगाने के लिए निर्वाचन आयोग ने इस बार बैंकों को भी चुनावी...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 08:52 AM IST
Rawatbhata - in spite of the order the bank is not giving the transaction information the collector complains
रावतभाटा|विधानसभा चुनाव में धनबल व प्रलोभन पर पाबंदी लगाने के लिए निर्वाचन आयोग ने इस बार बैंकों को भी चुनावी प्रक्रिया में शामिल कर लिया है। बैंकों को निर्देश दिए गए हैं कि निर्वाचन की अवधि में वे अपने यहां होने वाले 1 लाख रुपए से ज्यादा के संदेहास्पद लेन-देन की सूचना प्रतिदिन एक रिपोर्ट के रूप में जिला निर्वाचन अधिकारी को भेजेंगे। ऐसे लेनदेन की जांच होगी। साथ ही 10 लाख रुपए से ज्यादा की राशि निकालने पर उसकी सूचना आयकर विभाग को भी भेजनी होगी। यह रिपोर्ट विधानसभा वार तैयार होगी। भारत निर्वाचन आयोग के व्यय पर्यवेक्षक भी इस पर नजर रखेंगे।

कोई व्यक्ति जिस के खाते में पहले कोई राशि जमा नहीं हो रही थी, लेकिन चुनाव प्रक्रिया के दौरान जमा होने लगी हैं या डमी खाता खुलवाकर उसमें लेन देन होने लगा है। एक बैंक खाते से कई अन्य खातों में आरटीजीएस के द्वारा रकम का हस्तांतरण करने। चुनाव में 1 लाख से अधिक राशि खाते में जमा कराने, किसी अभ्यर्थी या रिश्तेदार द्वारा 1 लाख से अधिक की राशि के लेन-देन या किसी राजनीतिक दल द्वारा 1 लाख से अधिक राशि के बैंक से संदिग्ध लेन देन पर नजर रखकर उसकी जानकारी देनी होगी।

बैंक बताएंगे, किसने निकाला, किसे भेजा

बैंकों को किसी भी संदेहास्पद ट्रांजेक्शन की पूर्ण रूप से विस्तृत जानकारी देनी होगी। संदेहास्पद नकद लेन देन की जानकारी में जहां यह ट्रांजेक्शन हुआ उस विधानसभा क्षेत्र का नाम, जिले का नाम, बैंक का नाम, शाखा का नाम, खाताधारक का नाम, खाता नंबर, पेन नंबर, जमा, निकासी व पार्टी का नाम बताना होगा। आरटीजीएस के माध्यम से लेन-देन, अभ्यर्थी व उसके संबंधी के द्वारा नकद लेन-देन, राजनीतिक दलों द्वारा नकद लेन देन व अन्य संदेहास्पद नकद लेन देन के अलग-अलग काॅलम में जानकारी देनी होगी।

अग्रणी बैंक अधिकारी मेहंदीरत्ता की शिकायत

जिला निर्वाचन अधिकारी चित्तौडगढ़ इंद्रजीतसिंह को अग्रणी बैंक अधिकारी सुरेश मेहंदीरत्ता ने शिकायत करते हुए बताया कि यूको बैंक, विजया बैंक, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, इक्कीटाज बैंक, केनरा बैंक द्वारा संदिग्ध लेनदेन की जानकारी अभी तक नहीं दी है। जिस पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने उचित कार्रवाई के निर्देश दिए।

X
Rawatbhata - in spite of the order the bank is not giving the transaction information the collector complains
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..