विज्ञापन

फैक्ट्रियां ठप, मजदूरों की रोजी पर संकट

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:31 AM IST

Zila News News - ओवरलोडिंग को लेकर किए गए जुर्माना के विरोध में खदानों से कोटा स्टोन की निकासी ठप पड़ी है। खदानों के स्टाक में रखे...

R.mandi News - rajasthan news factories stalled crisis on labor39s rosy
  • comment
ओवरलोडिंग को लेकर किए गए जुर्माना के विरोध में खदानों से कोटा स्टोन की निकासी ठप पड़ी है। खदानों के स्टाक में रखे कोटा स्टोन का भी लदान नहीं हो रहा है। इससे अब फैक्ट्रियों पर भी कोटा स्टोन का संकट मंडराने लगा है। यदि शीघ्र समस्या का हल नहीं निकला को समस्या और गहरा जाएगी।

कोटा स्टोन की करीब 60 से अधिक लीज है और 1500 से अधिक प्रोसेसिंग यूनिट्स (फैक्ट्रियां) हैं। यहां पर प्रतिदिन बड़े पैमाने पर कोटा स्टोन का उत्पादन होता है। खदानों से स्टॉक और फैक्ट्रियों में कोटा स्टोन पहुंचाने का कार्य ट्रकों के माध्यम से किया जाता है। प्रतिदिन खदानों से करीब 1500 ट्रक रफ कोटा स्टोन का परिवहन होता है। यह कार्य बीते छह दिनों पूरी तरह ठप है। ओवरलोडिंग को लेकर किए गए जुर्माना से ट्रक मालिक परेशान है। यहां पर अधिकारियों को ज्ञापन देने, रैली निकालने के बाद वे शुक्रवार को जयपुर भी गए थे। वहां पर खान मंत्री प्रमोद भाया को समस्या बताई थी। अब सोमवार को फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने के लिए ट्रक मालिक जयपुर जाएंगे। यूनियन अध्यक्ष कमल पारेता ने कहा कि सोमवार को बैठक में मुख्यमंत्री के समक्ष अपना पक्ष रखेंगे। वहीं दूसरी ओर अब तक आंदोलन के कारण करीब 30 करोड़ रुपयों का कारोबार प्रभावित हो चुका है।

रामगंजमंडी। लदान ठप होने से खदानों में भी काम बंद है।

671 ट्रकों पर 124 करोड़ का का जुर्माना

परिवहन विभाग ने यहां लोकल स्तर पर रफ कोटा स्टोन का परिवहन करने वाले 671 ट्रकों पर ई रवन्ना के आधार पर 124 करोड़ रुपए ओवरलोडिंग का जुर्माना किया है। यह जुर्माना गत अप्रेल से दिसंबर तक का एक साथ किया गया है। कई ट्रकों पर 20 से 60 लाख रुपए तक जुर्माना किया गया है। भारी-भरकम जुर्माना 21 मार्च तक जमा नहीं करने पर वाहनों का पंजीयन लॉक करने की चेतावनी दी गई है। इसके विरोध में गत सोमवार से ही कोटा स्टोन लोकल ट्रक यूनियन ने लदान पूरी तरह ठप कर दिया है। इससे कोटा स्टोन की खदानों व स्टॉक में सन्नाटा पसरा हुआ है। यहां चलने वाले ट्रक नाकारा खड़े हुए हैं और लदान व खाली करने वाले मजदूर बेरोजगार बैठे हैं। अधिकांश कोटा स्टोन की फैक्ट्रियों पर अभी तक जमा रफ माल की ही प्रोसेसिंग की जा रही है, लेकिन छह दिन से रफ माल नहीं आने से फैक्ट्रियों पर पड़ा कोटा स्टोन भी समाप्त होता जा रहा है। व्यापारियों के अनुसार करीब दस फैक्ट्रियों बंद होने के कगार पर पहुंच गई है। यदि इन फैक्ट्रियों पर रफ माल समाप्त हो गया तो प्रोसेसिंग भी बंद हो जाएगी। इनपर काम करने वाले मजदूर भी बेरोजगार हो जाएंगे।


X
R.mandi News - rajasthan news factories stalled crisis on labor39s rosy
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन