प्रदेश के 31 जिलों में मिशन इंद्रधनुष का पहला चरण शुरू

Zila News News - प्रदेश के 31 जिलाें में सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 का अागाज हुअा। विविध चरणाें में लगातार चलने वाले इस कार्यक्रम की थीम 5...

Dec 04, 2019, 11:56 AM IST
Rawatbhata News - rajasthan news first phase of mission indradhanush started in 31 districts of the state
प्रदेश के 31 जिलाें में सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 का अागाज हुअा। विविध चरणाें में लगातार चलने वाले इस कार्यक्रम की थीम 5 साल 7 बार छूटे ना एक भी बार रखी है। खास बात यह है कि इस कार्यक्रम के दौरान ममता कार्ड भी डुप्लीकेट बनवा सकेंगे ताकि टीकाकरण सही प्रकार से क्रमबद्ध रूप से किया जा सके। इस अभियान में चिकित्सा, शिक्षा, आईसीडीएस सहित विविध विभागों का समन्वय भी रखा गया है। चित्ताैड़ जिले के सभी 11 खंड में इस कार्यक्रम का प्रथम चरण शुरू हो गया है। यह कार्यक्रम मार्च 2020 तक चलेगा। दूसरा चरण 6 जनवरी से, तृतीय चरण 3 फरवरी तथा चतुर्थ चरण 2 मार्च से प्रारंभ होगा।

हर चरण 7 दिन का होगा। जिला स्तरीय मीडिया कार्यशाला में जानकारी देते हुए आरसीएचओ डा हरीश उपाध्याय ने बताया कि नियमित टीकाकरण में छूटी हुई गर्भवती महिलाएं एवं बच्चों का टीकाकरण करना है। इस मिशन में विशेष ध्यान रखा है कि कमजोर एवं वंचित टीकाकरण क्षेत्रों में संघन टीकाकरण कराना। टीकाकरण की मांग को बढ़ाना एवं वैक्सीन के प्रति लोगों में विश्वास जगाना। बड़ीसादड़ी, बेगूं, भदेसर, भोपाल सागर, चित्तौड़, डूंगला, गंगरार, कपासन, निंबाहेड़ा व रावतभाटा तथा दो अर्बन जगहों पर 70 स्थान चिह्नित किए गए हैं। जहां 545 बच्चों 135 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा। ड्रग वेयर हाऊस इंचार्ज डाॅ. देवीलाल धाकड़ ने भी जानकारी दी। पीआरओ ऋतु सोढ़ी, संजना, खुशवंत, अविनाश, नेहा मौजूद थे।

टीकाकरण में पिछड़े, क्याेंकि 40% पद रिक्त

जिला स्तरीय मीडिया कार्यशाला के दौरान यह भी सामने आया कि हमारा जिला प्रदेश में टीकाकरण की रैंकिंग में 25वें पायदान पर है यानी 24 जिलों से पिछड़ा हुआ है। कारण जानने पर मौके पर मौजूद जिला ड्रग वेयर हाऊस इंचार्ज डा देवीलाल धाकड़ ने बताया कि जिले के उप केंद्रों पर एएनएम के 40 प्रतिशत पद खाली है। कई एएनएम के पास तीन से चार-चार उप केंद्रों का चार्ज है। ऐसे में स्वभाविक है जहां मूल पद है उस पर एएनएम फोकस रखती है, अतिरिक्त चार्ज वाले उपकेंद्रों के गांवों को सेकंड प्रायाेरिटी देती है। रिक्त पदों के कारण टीकाकरण पूरा नहीं हो पाता है। आरसीएचओ उपाध्याय ने बताया कि इसके अलावा दूसरा कारण यह भी है कि अभी टीकाकरण को लेकर सुदूर गांवों में भ्रांतियां है। शिक्षा विभाग के सहयोग से प्रार्थना सभाओं में टीकाकरण कराने के उद्देश्य बताए जा रहे है ताकि बच्चों के जरिए स्वास्थ्य शिक्षा घर-घर पहुंचे।

X
Rawatbhata News - rajasthan news first phase of mission indradhanush started in 31 districts of the state
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना