परीक्षा सिर पर, 1386 शिक्षकों को विभाग ने भेजा ट्रेनिंग पर, पढ़ाई चौपट

Zila News News - एक तरफ सरकार राजकीय स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के परिणाम को लेकर संवेदनशील होने का दावा करती है दूसरी...

Feb 15, 2020, 10:45 AM IST

एक तरफ सरकार राजकीय स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के परिणाम को लेकर संवेदनशील होने का दावा करती है दूसरी तरफ शिक्षा विभाग के दोहरे रवैये से छात्रों की पढ़ाई चो पट होने के कगार पर है। माध्यमिक व उच्च माध्यमिक के छात्रों की परीक्षा सिर पर है और शिक्षा विभाग ने जिले के 1386 शिक्षकों को पांच दिन के लिए प्रशिक्षण के लिए भेज दिया। ट्रेनिंग उपखंड स्तर पर कराई जा रहीं हैं। दिलचस्प तो ये है कि गणित और अंग्रेजी विषय को लेकर पहले ही छात्रों के मन में परिणाम को लेकर खौफ है विभाग ने इन्हीं दो सबजेक्ट के टीचरों को ट्रेनिंग में भेजकर छात्रों के साथ खिलवाड़ किया है।

क्लास रूम खाली, छात्रों में नाराजगी

शिक्षकों को ट्रेनिंग में भेजने के बाद क्लास रूम खाली है। छात्र परिणाम को लेकर चिंतित हैं। छात्रों ने बताया कि ट्रेनिंग के नाम पर हमारे भविष्य को अंधकार में धकेल रहें हैं। सूत्रों ने बताया कि बजट को खर्च करने के लिए परीक्षा से पूर्व ट्रेनिंग कराई जा रहीं हैं।

जिला अधिकारी के तर्क

छात्रों की परीक्षा करीब है और शिक्षकों की ट्रेनिंग करवाने के बारे में जब जिला शिक्षा अधिकारी रतन लाल यादव से बात की तो उन्होंने अटपटे तर्क दिए। पहले कहा टीचर छात्रों को पढ़ाकर जाते है फिर सवाल किया तो बात,से पलटकर बोले छात्रों की तैयारी के लिए बाद में अतिरिक्त पढ़ाई करवा दी जाएगी।

- आगामी सलेबस व शिक्षा विभाग द्वारा नई जानकारी देने के लिए साल में एक बार ट्रेनिंग करवाई जाती है। सिर पर परीक्षा है निर्देश के बाद ही ट्रेनिंग कराई जा रहीं हैं
- रमेश कुंतल, ब्लाॅक शिक्षा अधिकारी

यहां हैं 11 ट्रेनिंग के केन्द्र

केन्द्र शिक्षकों की संख्या

बस्सी 164

चाकसू 162

दूदू 189

गोविन्दगढ 231

जयपुर पश्चिम 82

जमवारामगढ 207

कोटपुतली 84

फागी 47

सांभरलेक 168

सांगानेर ग्रामीण 37

सांगानेर शहर 15

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना