लॉटरी से कई दावेदारों के अरमानों पर पानी फिरा तो कइयों के लगे पंख

Zila News News - पंचायतीराज चुनाव के लिए निकाली गई लाटरी ने शाहपुरा ब्लॉक की ग्राम पंचायतों में सरपंच बनने के कई दावेदारों के...

Dec 20, 2019, 11:16 AM IST
पंचायतीराज चुनाव के लिए निकाली गई लाटरी ने शाहपुरा ब्लॉक की ग्राम पंचायतों में सरपंच बनने के कई दावेदारों के अरमानों पर जहां पानी फेर दिया वही कइयाें को खुशी के पंख भी लगा दिए। शाहपुरा ब्लॉक की 36 ग्राम पंचायतों की बुधवार को उपखंड कार्यालय में लाटरी निकाली गई थी जिसमें 2 एसटी, 6 एससी, 8ओबीसी, 20 जनरल की सीट निकली। महिलाआें की इस बार पिछली बार की तुलना में 17% बढ़कर 50 फ़ीसदी आरक्षण कर देने से गांव की सरकार में महिलाओं की भागीदारी पुरुष के बराबर रहेगी। गत बार शाहपुरा ब्लॉक में 33 ग्राम पंचायती थी जिन्हें परिसीमन में बढ़ाकर 36 ग्राम पंचायतें कर दी गई। लॉटरी के बाद अब गांव की सरकार में भागीदार बनने का सपना सजाने के लिए कई नई दावेदार उभर रहे हैं वहीं कई दिनों से सरपंच बनने की उम्मीद पाले बैठे लोगों को आरक्षण बदल जाने से आशा निराशा में बदल गई।

लेटकाबास ग्राम पंचायत के मौजूदा सरपंच दीपशिखा चौधरी के पिता सुगन चंद बड़बड़वाल ने बताया कि इस बार उन्हें सामान्य या ओबीसी की लॉटरी आने की उम्मीद थी लेकिन अनुसूचित जनजाति की लॉटरी खुलने से उनके उम्मीदों पर पानी फिर गया। उनकी सरपंच पुत्री दीपशिखा ने ग्राम पंचायत का विकास भी खूब करवाया था ताकि अगली बार उनको फायदा मिल सके लेकिन आरक्षण की लॉटरी ने सारा खेल बिगाड़ दिया। लेटकाबास ग्राम पंचायत में पहली बार पुनर्गठन में लाखनी गांव को जोड़ा गया था जो कांट ग्राम पंचायत में आता था। इसी प्रकार गांव के संदीप शर्मा, ओम प्रकाश शर्मा, पंचायत समिति सदस्य रामकुमार कटारिया, सीताराम भी अपनी-अपनी प|ियों को सरपंच बनाने की तैयारी में जुटे हुए थे लेकिन लॉटरी ने सपनों को चकनाचूर कर दिया। एसटी की सीट की उम्मीद पाले भोलाराम धानका, रामजी लाल मीणा, लालाराम मीणा ने अपनी प|ियों को चुनाव लड़ने के लिए तैयारी शुरू कर दी। पुनर्गठन में लेटकाबास से टूटकर पहली बार ग्राम पंचायत बनी निठारा में रामसिंह निठारा, शेर सिंह, पूर्व प्रधान शिंभू लांबा, कमल लांबा व सांवरमल तक्षक अादि कई दावेदार सरपंच बनने की जुगत में थे लेकिन आरक्षण में निकली एससी की सीट ने सारी स्थिति उल्टी कर दी। कई ग्राम पंचायतों में सामान्य सीट आने से दावेदारों की संख्या एकाएक बढ़ गई है। देवन में सामान्य सीट आने से बिरजू राम देवंदा, बिरदी चंद गुर्जर, पूर्व सरपंच भगवानदास रूंडला, रामचंद्र देवन्दा, मनीष भदालिया, जयनारायण देवन्दा, कल्याणमल पांडे, सुभाष पारीक अादि कई दावेदार सक्रिय हो गए है। नाथावाला ग्राम पंचायत में सामान्य महिला सीट के आने से दावेदारों की संख्या लंबी हो गई।

बस्सी: 25 ग्राम पंचायतों की लॉटरी निकाली

बस्सी चक| बस्सी पंचायत समिति की 25 ग्राम पंचायतों की आरक्षण लॉटरी गुरुवार को पंचायत समिति के सभागार में एसडीएम रामकुमार वर्मा की अध्यक्षता में निकाली गई। पंचायतीराज के नियमानुसार सरपंचों के लिए अनुसूचित जाति के 6 पद आरक्षित किए गए जिनमें 3 महिला के लिए आरक्षित है। अनुसूचित जनजाति के लिए 5 पदाें में से 2 महिला के लिए आरक्षित है। अन्य पिछड़े वर्ग में 1 पद महिला के लिए आरक्षित है। सामान्य के 13 पदाें में से 7 महिला के पद आरक्षित है। बताया कि ग्राम पंचायत कुंथाड़ा खुर्द, मानसर खेड़ी, मनोहरपुरा, दूधली, बांसखो, टहटडा सरपंच पद सामान्य के लिए आरक्षित हुए। बुडथल, रामसर पालावाला, बस्सी, मोहनपुरा, सुमेल, जटवाड़ा, पड़ासोली में सामान्य महिला, रामरतनपुरा में ओबीसी, टोडाभाटा, झर, बड़वा में अनुसूचित जनजाति, बगराना, खोरी में अनुसूचित जनजाति महिला के लिए, कानोता, बैनाड़ा, विजयपुरा में अनुसूचित जाति, जीतावाला, विजय मुकुंदपुरा उर्फ हीरावाला, घाटा में अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित हुई है। आरक्षण लॉटरी निकालते समय सभागार में विधायक लक्ष्मण मीना, तहसीलदार प्रेमराज मीना, नायब तहसीलदार सहित अनेक कर्मचारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना