विज्ञापन

बुचारा गांव की अवैध खानों पर लगेगी रोक

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:25 AM IST

Zila News News - बुचारा गांव की सीमा में भारी मात्रा में हो रहे अवैध खनन की जानकारी मिलने पर जिला कलेक्टर के निर्देश पर खान विभाग के...

Pawta News - rajasthan news prevention of illegal mines in bukhara village
  • comment
बुचारा गांव की सीमा में भारी मात्रा में हो रहे अवैध खनन की जानकारी मिलने पर जिला कलेक्टर के निर्देश पर खान विभाग के कनिष्ठ अभियंता महेन्द्र कुमार, ड्राफ्टमैन घनश्याम यादव व जीवन बचाओ आन्दोलन के प्रणेता नितेन्द्र मानव ने बुचारा क्षेत्र का दौरा कर अवैध रूप से चल रही पत्थर की खानों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद अधिकारियों ने क्षेत्र में चल रही अवैध खानों को रोकने के लिऐ सख्त कदम का आश्वासन दिया। इस दौरान नितेन्द्र मानव ने अवैध खनन रोकने के लिऐ खान विभाग के अधिकारियों से बुचारा क्षेत्र में पूर्व की भांति पुलिस बल लगाने की मांग की। जिस पर अधिकारियों ने आरोपियो के विरूद्ध ठोस कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। पूर्व में भी सामाजिक कार्यकर्ता नित्येन्द्र मानव ने एनजीटी में जनहित याचिका दायर की थी। जिसकी सुनवाई करते हुए कोटपुतली के कल्याणपुरा बुचारा आदि गाँवों में उच्च स्तर पर हो रहे अवैध खनन पर अंकुश लगाने को लेकर दिए गए आदेशों की पालना करते हुए पिछले दिनों खान विभाग द्वारा ग्राम बुचारा में अवैध खनन गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए दस हथियार बन्द पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया था। लेकिन चुनावों को देखते हुए पुलिस बल हटा कर अन्यंत्र चुनाव ड्यूटी में लगा दिया गया था। बुचारा से पुलिस बल हटते ही काफी दिनों से चुप बैठा खनन माफिया ने पूर्व से भी तेज गति से अवैध खनन को अंजाम देने लगा। एनजीटी के आदेशों की हो अवमानना को देखते हुए जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव ने ग्राम बुचारा में एनजीटी के आदेशानुसार पुलिस बल तैनात किये जाने के निर्देश दिए थे। लेकिन एएमई कोटपुतली ने निर्देश दिए जाने के दो सप्ताह के बाद भी बुचारा में पुलिस बल नही लगाया है। जिस कारण अवैध खनन बदस्तूर जारी है। दूसरी तरह एनजीटी के आदेशों की अवहेलना होते देख सामाजिक कार्यकर्ता नित्येन्द्र मानव ने बुचारा सहित कोटपुतली क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए एक बार फिर एनजीटी में जनहित याचिका दायर की है।

जयपुर जिले के अंतिम सीमा और सीकर जिले की सीमा से सटे हुए होने तथा पुलिस थाने से अत्यधिक दूर व आवागमन को लेकर साधनों का अभाव होने के कारण ग्राम बुचारा में पिछले कई दशकों से उच्च स्तर पर अवैध खनन जारी है। सामाजिक कार्यकर्ता नित्येन्द्र मानव ने बताया कि बुचारा क्षेत्र में लगभग 500 खाने अवैध रूप से चल रही है। जिस कारण क्षेत्र की हरियाली और प्राकृतिक सौंदर्य खत्म हो गया है। जिसके परिणाम स्वरूप क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर भी बढ़ा है। जिसकी पुष्ठि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा करवाई गई जाँच में हुई है। पुलिस एवं खान विभाग द्वारा जब कानून कार्यवाही की जाती है तो माफिया नजदीकी जिले की सीमा में जाकर स्वम को कार्यवाही से बचा लेता है।

पावटा ग्रामीण.बुचारा में अवैध खनन का निरीक्षण करते अधिकारी।

डेढ़ करोड़ का होता है अवैध खनन

नित्येन्द्र मानव ने बताया कि बुचारा क्षेत्र में बेशकिमती खनिज भारी मात्रा में होने के कारण बुचारा क्षेत्र खनन माफिया की कई वर्षों से शरण स्थली बना हुआ है। यहां संचालित लगभग 500 अवैध खानों में प्रतिदिन एक डेढ़ करोड़ की राशि का अवैध खनन होता है।

X
Pawta News - rajasthan news prevention of illegal mines in bukhara village
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन