पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Suket News Rajasthan News Student Was Going To Give Quota Examination From Bakani Died In An Accident On The Highway

बकानी से कोटा परीक्षा देने जा रहा था छात्र, हाईवे पर हादसे में मौत

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोटा जिले के काल्याकुई गांव के पास नेशनल हाईवे 52 पर कोटा 12वी कक्षा की परीक्षा देने जा रहे बकानी निवासी छात्र की अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत हो गई। मृतक के भाई के अनुसार दक्ष राठौर उर्फ भोला पुत्र मांगीलाल राठौर उम्र 20 साल निवासी बकानी जिला झालावाड़ घर से कोटा परीक्षा देने सुबह करीब 4ः30 बजे अपनी पल्सर बाइक से निकला था। रास्ते में हादसा हो गया और उसकी मौत हो गई। हादसे की सूचना हमें सुबह साढ़े 6 बजे मिली। गुरुवार को भी वह पेपर देने गया था, उस समय परिजनों ने उससे कहा था कि लगातार पेपर है तो तुम कोटा ही रुक जाओ, लेकिन दक्ष वापस गांव आ गया था। अगर उसने परिजनों की बात मानी होती तो वह आज हमारे बीच होता।

सुकेत पुलिस चौकी प्रभारी सतीष सिंह ने बताया कि सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। दक्ष को एंबुलेंस से सुकेत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाई। जहां जांच कर चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही सुकेत कस्बे के राठौर समाज के कई लोग स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। जहां पोस्टमार्टम कर शव परिजनों के सुपुर्द किया। मृतक के एक हाथ व एक पैर टूटे हुए थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आरोप: एंबुलेंस कर्मचारियों की लापरवाही, हाईवे पर जगह नहीं

वहीं, घटनास्थल पर पहुंचे सलावदखुर्द पूर्व सरपंच बलराम मीणा ने बताया कि सुबह करीब 6ः15 पर दुर्घटना की सूचना मिलते ही जब मौके पर पहुंचा तो देखा कि मोटरसाइकिल सवार बुरी तरह घायल अवस्था में पड़ा था। वहीं खड़े एक युवक ने उसका मोबाइल निकालकर उसके अंगूठे से अनलॉक कर उसको चालू किया और पुलिस व एंबुलेंस को सूचना दी। मीणा का आरोप है कि एंबुलेंस देरी से आने के कारण दक्ष की मौत हुई है। घटना से लग रहा है कि एनएच 52 पर चल रहे 6 लेन निर्माण में सडक के दोनों और फैले मेटेरियल से वाहनों के आने-जाने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। ऐसे में मोड़ पर वाहनों की तेज गति होने से हादसा होने का अंदेशा है।

}टोल ठेकेदार की दादागिरी, वाहन चालक काे रहे भ्रमित

सुकेत के मुख्य चौराहे पर लगे आरएसआरडीसी के सूचना बोर्ड ने वाहन चालकों को भ्रमित कर रखा है। बस स्टैड पर से एक रास्ता भवानीमंडी, डग, चौमहला जाता है। जो आरएसआरडीसी का मेगा हाईवे टोल रोड है। यह रास्ता डग चौहमला के बाद इंदौर, उज्जैन रोड में शामिल हो जाता है। जबकि सुकेत से एक सीधा रोड झालावाड़ पाटन होते हुए उज्जैन, इंदौर को जाता है। जिसकी दूरी भी कम है, लेकिन टोल के ठेकेदार ने अपने फायदे के लिए एनएच 52 पर लगे इस बोर्ड पर उज्जैन, इन्दौर को सुकेत-डग मेगा हाईवे पर जाना बता दिया है। जिससे अक्सर वाहन चालक भ्रमित हो जाते हैं। बस स्टैड निवासी नरेन्द्र चौैहान ने बताया कि भारी वाहन अक्सर इस रोड पर मुड़ जाते हैं और आगे जाकर जब रास्ता पूछते हैं तो लोग वापस मुख्य मार्ग बता देते हैं। जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। वहीं देर रात आने वाले निजी वाहनों को भी इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ता है क्योंकि इस रोड से आगे जाकर रामगंजमंडी, भानपुरा, रोड भी मिलता है। पहले भी इस बोर्ड को सही करवाया जा चुका है, लेकिन टोल ठेकेदार ने इसे फिर भ्रमित करने वाला बना दिया।

मृतक छात्र दक्ष

सुकेत. जिले के काल्याकुई गांव के पास सड़क हादसे में बाइक की ऐसी स्थिति हो गई।
खबरें और भी हैं...