देह व्यापार नहीं करने का दिया था शपथ पत्र, पर वादे से मुकरी नट बस्ती

Zila News News - दौसा-मनोहरपुर एनएच 148 पर देह व्यापार पर पुलिस कार्रवाई के बाद नट बस्सी में सन्नाटा पसरा है। यहां चल रहे देह...

Feb 15, 2020, 10:11 AM IST
Manoharpur News - rajasthan news the body was given an affidavit for not doing business but the promise turned hostile

दौसा-मनोहरपुर एनएच 148 पर देह व्यापार पर पुलिस कार्रवाई के बाद नट बस्सी में सन्नाटा पसरा है। यहां चल रहे देह व्यापार को बंद करने के लिए ग्रामीणों की शिकायत पर नट बस्ती के लोगों ने करीब साढ़े चार साल पहले लिखित में पुलिस को शपथ पत्र दिया था। इसके बाद भी पुलिस चौकी से महज कुछ दूरी पर सरेआम देह व्यापार किया जा रहा रहा था। लोगों ने पुलिस प्रशासन से इन पर ठोस कार्रवाई करने की मांग की। गौरतलब है कि पुलिस ने बुधवार को कार्रवाई करते हुए देह व्यापार के आरोप में 27 युवक -युवतियों को दबिश देकर गिरफ्तार किया था।

गोपाल गुर्जर, श्रवण गुर्जर आदि ने बताया कि नट बस्ती के लोगों द्वारा खुले आम वेश्यावृत्ति का कार्य किया जाता हैं। इसके चलते आसपास क्षेत्र की महिला व विद्यालय जाने वाली बालिकाएं अकेली उस रास्ते से गुजरने से कतराती है जिन पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। नट बस्ती के लोग राष्ट्रीय पक्षी मोरों को भी अपना निवाला बना चुके है। लोगों ने कहा कि देह व्यापार में लिप्त युवक व युवतियों को गिरफ्तार कर बहुत अच्छी पहल की। ग्रामीणों ने पुलिस से देह व्यापार को पूरी तरह बंद करने की मांग की।

पांच ग्राम पंचायतों ने विधायक को दिया था ज्ञापन

हाइवे पर लुनेठा तन स्थित नट बस्ती में वर्षों से चल रहे देह व्यापार को लेकर बहलोड़ ग्राम पंचायत ने 22 जुलाई 2015 को रायसर, माथासुला, सामरेड़कलां व केलाकाबास ग्राम पंचायत द्वारा 23 जुलाई 2015 को जमवारामगढ़ विधायक को नट बस्ती में देह व्यापार बंद करवाने के लिए ज्ञापन दिया था। इसके बाद भी प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की।

देह व्यापार को लेकर नट बस्ती निवासी सेठानी केशावत प|ी जोमल्या, शेर सिंह, विनोद, राजेश, विजेन्द्र, शतवन्तसिंह, भुरया, रणजीत पुत्र जोमया, सीता प|ी शैतान, नरेन्द्र, तस्वीर, जगवीर पुत्र शैतान ने एसडीएम को 24 अगस्त 2015 को शपथ पत्र दिया था। इसके बाद अनैतिक कार्य को बंद कर दिया गया। तब कहा था कि ऐसा कोई भी अनैतिक कार्य व आपराधिक कार्य नहीं किया जाएगा जो अपराध की श्रेणी में आता हैं। इसके लिए हम पूर्णतः बाध्य रहेंगे। अपनी आजीविका चलाने के लिए मेहनत मजदूरी कर अपना जीविकोपार्जन करेंगे। हमारे द्वारा लोक नीति के विरुद्ध कार्य पाया जाए तो ग्रामीण व प्रशासन को कानूनी कार्रवाई करने तथा हमारे मकानात आदि को नष्ट करने तथा हमें बेदखल करने का पूर्ण अधिकार होगा। ग्राम वासियों की ऐसी कार्रवाई करने पर हम उनके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई करने के हकदार नहीं रहेंगे। यह शपथ पत्र व समझौता पत्र नट बस्ती वालों ने ग्रामीणों के साथ लिखकर 24 अगस्त 2015 को जमवारामगढ़ एसडीएम व पुलिस थाने में दिया था। बावजूद इसके देह व्यापार का कार्य किया जा रहा है।

रायसर| दौसा मनोहरपुर हाईवे स्थित नट बस्ती में पसरा सन्नाटा।

X
Manoharpur News - rajasthan news the body was given an affidavit for not doing business but the promise turned hostile

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना