परिवार के 7 लोगों की एक साथ चिता उठी तो रो पड़ा पूरा गांव

Zila News News - तेज गति : राेडवेज बस की स्पीड करीब 90 किलाेमीटर प्रति घंटा थी। बस में करीब 30-40 सवारियां थी। सवारियाें के अनुसार...

Feb 12, 2020, 10:25 AM IST
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
तेज गति : राेडवेज बस की स्पीड करीब 90 किलाेमीटर प्रति घंटा थी। बस में करीब 30-40 सवारियां थी। सवारियाें के अनुसार ड्राइवर बस को तेज स्पीड से चला रहा था, जिसको एकाध बार सवारियों ने टोका भी था। इसके बावजूद स्पीड कम नहीं हुई।

एक दिन पहले तक संधारा गांव के लोग पंडित परिवार को उनकी बहन-बेटी की शादी के लिए बधाइयां दे रहे थे। घर में जश्न मनाया जा रहा था, परिवार के लोग बहन की शादी में शामिल होने गए थे, लेकिन उनको क्या मालूम था कि शादी की ये खुशियां मातम में बदल जाएंगी। जो गांव वाले खुशी से बधाइयां दे रहे थे, वे अब आंसू बहाते हुए मौत के सांत्वना दे रहे थे। महिलाओं का क्रंदन देखकर हर कोई रो रहा था, गांव के लोग भी यकीन नहीं कर रहे थे कि पंडित परिवार हादसे में खत्म हो गया। ग्रामीणों ने दुखी मन से एक ही परिवार के 7 लोगों की अर्थियां उठाईं तो हर आंख में आंसू दिखाई दिए। भारी मन और नम आंखों से दिवंगत लोगों का अंतिम संस्कार किया गया। मरने वालों में सबसे छोटा 15 साल का पार्थ था। हादसे में चालक समेत 9 लाेगाें की माैत हुई थी।

भीलवाड़ा में रविवार रात सड़क हादसे में संधारा के पंडित परिवार के 7 लोगों की मौत हो गई थी। इनमें से 7 पंडित परिवार के लोग थे। गांव में रात को ये सूचना पहुंची तो पूरा गांव नींद से जाग गया। लोग सुबह तक शवों का आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही एंबुलेंसों से शव गांव में पहुंचे तो चीख-पुखार शुरू हो गई।

ये हुए गंभीर घायल : विनायक (24) पुत्र त्रिलोक चंद, मोना (28) प|ी प्रदीप, वैदिक (3) पुत्र प्रदीप, अभिषेक (22) पुत्र त्रिलोक चंद, अनुज (16) पुत्र जगदीश और तनुज (14) पुत्र जगदीश शर्मा गंभीर घायल हुए हैं।

इनकी हुई हादसे में मौत: सड़क हादसे में त्रिलोक शर्मा (50) पुत्र भेरुलाल शर्मा, कौशल्या बाई (45) प|ी त्रिलोक शर्मा, मनीषा (22) प|ी विनायक, राजेन्द्र कुमार (48) पुत्र भेरुलाल, पार्थ (16) पुत्र राजेन्द्र कुमार, प्रदीप (24) पुत्र देवीलाल, कौशल्या बाई (58) प|ी देवीलाल, दीपक (22) पुत्र बृजमोहन बैरागी की मौत हो गई। जिनका मंगलवार को अंतिम संस्कार किया गया। वहीं दूसरी ओर जीप के चालक नईम (40) निवासी ढाबला रामगंजमंडी का भी अंतिम संस्कार कर दिया।

घर के सामने 7 शव रखे तो रुलाई फूटी

एंबुलेंस से उतारकर जैसे ही पंडित परिवार के घर के सामने 7 लोगों के शव रखे गए तो ग्रामीणों की रुलाई फूट पड़ी। अंतिम संस्कार की तैयारी के समय भी लोगों की आंखें नम रहीं। हालात ऐसे बने कि करुण क्रंदन के अलावा गांव में कुछ सुनाई नहीं दे रहा था। दो दिन पहले तक जिस घर में खुशियां मनाई गई, वहां मातम छा गया था।

बस ड्राइवर पीछे देख रहा था, नहीं दिखा ट्रैक्टर

लापरवाही : बस काे तेज स्पीड में चला रहे ड्राइवर की यात्रियाें से भी बहस चल रही थी। इस कारण उसे बस के अागे चल रहा ट्रैक्टर नजर नहीं अाया। इस दाैरान वह बस के यात्रियाें की अाेर देख रहा था। जैसे ही उसे पता चला। उसने बस काे बचाने की काेशिश की, लेकिन तब तक काफी देर हाे चुकी थी। दूसरी अाेर, ट्रैक्टर के भी पीछे लाइट अाैर रिफ्लेक्टर नहीं थे।

ट्रैक्टर अचानक सामने आया तो ड्राइवर घबरा गया, साइड लेने लगा ताे सामने जीप से भिड़ी

हादसे में घायल बस में सवार काेतवाली भीलवाड़ा के हैड कांस्टेबल रामप्रसाद ने भास्कर को बताया कि काेटा से शाम 7 बजे भीलवाड़ा रवाना हुए। बीगाेद के पास बस के अागे ट्रैक्टर चल रहा था। पहले बस ड्राइवर काे ट्रैक्टर नजर नहीं अाया। बस जब ट्रैक्टर के पास पहुंची ताे अचानक ट्रैक्टर दिखा। बस ड्राइवर घबरा गया अाैर ट्रैक्टर काे बचाने के लिए बस काे साइड में घुमाया। इतने मंे सामने की तरफ से अा रही जीप से टकरा गई। बस भी खड्डे में गिरी। रामप्रसाद के साथ काेतवाली के दाे अाैर कांस्टेबल भी थे। बिजाैलिया से बस में बैठे कैलाश चंद्र का कहना था कि अचानक ट्रैक्टर अाने से ही एक्सीडेंट हुअा।

धमाका हुअा, अांख खुली ताे सीट पर फंसा पाया, लोगों ने निकाला, अस्पताल पहुंचाया

राेडवेज बस में घायल सीकर हाल अाजादनगर निवासी गाेविंदकुमार सैनी ने बताया कि वह सेल्समैन है। काेटा से अा रहा था। ड्राइवर सीट से तीसरी लाइन में सीट पर बैठा था। हादसा कैसे हुअा पता नहीं। अचानक धमाका हुअा। अांख खुली ताे पता चला कि बस खड्डे में गिरी हुई है अाैर वह भी सीट पर फंसा हुअा है। उसे लाेगाें ने बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। त्रिलोक पंडित की बहन की शादी भीलवाड़ा में थी। पूरा परिवार शामिल होने के लिए आया था। लौटते समय हादसा हो गया। ये लोग रामगंजमंडी क्षेत्र के जगदीश गुर्जर की जीप लेकर भीलवाड़ा गए थे। (पेज 12 भी पढ़ें)

रामगंजमंडी. मृतक त्रिलोक की मां को ग्रामीण मुक्तिधाम ले जाते हुए।

रामगंजमंडी. भीलवाड़ा में रविवार रात बस और जीप की भिंड़ंत में संधारा गांव के एक ही परिवार के सात लोगों की मौत हो गई। 7 लोगों की चिता एक साथ उठी तो पूरा गांव रो पड़ा। मंगलवार को संधारा गांव में हजारों लोगों की मौजूदगी में शवों का अंतिम संस्कार किया गया। फोटो- आजम चौधरी

R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
X
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together
R.mandi News - rajasthan news the whole village wept when 7 family members woke up together

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना