ब्रह्माणी माता मंदिर का पुनरुद्धार काम अंतिम चरण में / ब्रह्माणी माता मंदिर का पुनरुद्धार काम अंतिम चरण में

Zila News News - न्हाण अखाड़ा चौधरी पाड़ा ब्रह्माणी माता मंदिर के पुनरुद्धार का काम अब अंतिम चरणों में है। वर्ष 2019 को धुलंडी के बाद...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2018, 09:02 AM IST
Sangod - restoration work of brahma mata temple in final phase
न्हाण अखाड़ा चौधरी पाड़ा ब्रह्माणी माता मंदिर के पुनरुद्धार का काम अब अंतिम चरणों में है। वर्ष 2019 को धुलंडी के बाद न्हाण से पूर्व मंदिर का पुर्नरूद्वार का काम पूरी तरह से निपटने की उम्मीद है।

अभी पांच दिवसीय न्हाण की रंगत शुरू होने में पांच माह बाकी है, लेकिन अखाड़े के लोग मार्च माह में शुरू होने वाले पांच दिवसीय लोकोत्सव न्हाण से पहले मंदिर को पूरी तरह से मूर्त रूप देने की तैयारियों में लगे है। सांगोद का पांच दिवसीय न्हाण लोकोत्सव पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान बनाएं हुए है।

मार्च में न्हाण की रंगत यहां शुरू होती है। दो अखाड़ों के बीच प्राचीन लोकानुंरजन संस्कृति की झलक इस न्हाण महोत्सव के दौरान देखने को मिलती है। ये गजब की बात है कि न्हाण के अखाड़े दो है तो यहां ब्रह्माणी माता के मंदिर भी अलग अलग दो बने हुए है।

आकार लेने लगा ब्रह्माणी माता मंदिर का स्वरूप

कहते है कि सांगोद में न्हाण की परम्परा जब से शुरू हुई है तभी से दोनों अखाड़ों के ब्रह्माणी माता के मंदिर उसी जगह पर बने हुए है। ये न्हाण की इष्ट देवी है, न्हाण शुरू होने से पूर्व सबसे पहले यहां अखंड ज्योत जलाई जाती है। पांच माह से बूंदी जिले के कुशल कारीगर मंदिर के पुनरुद्धार के काम को गति देने में लगे है। अधिकतर काम कारीगरों ने निपटा दिया है,अब अंतिम चरण में मंदिर का काम चल रहा है।

न्हाण से पहले पुनरुद्धार का काम पूरा होने की जताई जा रही है उम्मीद

बाजार पक्ष न्हाण का कहना है कि न्हाण की शुरूआत मार्च 2019 से शुरू होगी। कारीगरों को न्हाण से पूर्व मंदिर का पूरा काम निपटाने की शर्त पर ठेका दिया गया है। उसी के अनुसार कारीगर काम करने में लगे है। अब तक बारिक नक्काशी का काम कारीगरों ने निपटा दिया है। इस बार न्हाण पर यहां अलौकिक लुक में मंदिर का दृश्य यहां न्हाण देखने वाले लोगों को मिलेगा। इस मंदिर निर्माण पर 10 से 12 लाख रुपये खर्च होने की उम्मीद है। ये राशि भी बाजार पक्ष के लोगों से ही एकत्रित करके मंदिर का पुनर्रोद्वार का काम करवाया जा रहा है।

दीपावली पर जगमगा उठा था मंदिर

अभी मंदिर का निर्माण पूरी तरह से निपटा नहीं है। इस दीपावली पर अखाड़े के लोगों ने निर्माणाधीन मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा करवाई गई। इस राेशनी के बीच मंदिर का पूरा परिसर जगमगा उठा। लोगों ने दीपावली के मौके पर यहां पहुंचकर माता रानी के दर्शन किए तथा कई मिन्नतें मांगी।

X
Sangod - restoration work of brahma mata temple in final phase
COMMENT