राकेश अस्थाना की बेटी की शादी का पूरा खर्च सांडेसरा ने उठाया था

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • उनके बेटे को कंपनी में नौकरी भी दिलाई थी
  • राकेश अस्थाना पर कसता जा रहा है शिकंजा  

वडोदरा.सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर शिकंजा कसता जा रहा है। इसमें वडोदरा की स्टर्लिंग बायोटेक कंपनी में हुई चार हजार करोड़ की घपलेेबाजी भी मुख्य है। स्टर्लिंग बायोटेक की वडोदरा, मुंबई और उटी में मौजूद इमारतों पर 28 जून 2011 को आयकर विभाग ने छापा मारा था। 


25 स्थानों पर मारा गया था छापा:25 अलग-अलग स्थानों पर किए गए सर्च ऑपरेशन में लाल डायरी, कम्प्यूटर, मेल सर्वर, हार्ड ड्राइव जब्त किए गए थे। लाल डायरी में शहर के उच्च अधिकारियों के साथ किए गए लेन-देन का ब्यौरा था। रेड के दौरान सर्च पार्टी नं.-7 द्वारा जब्त कम्प्यूटर में कई महत्वपूर्ण जानकारियां थीं। एक फोल्डर में कार्पोरेट फंड फ्लो स्टेटमेंट-फरवरी 2011 में अधिकारियों के साथ की गई नकद लेन-देन की एंट्री थी। लाल डायरी से राकेश अस्थाना समेत अायकर के तीन अधिकारियों और कांग्रेस के एक बड़े नेता के दामाद के साथ नकद या अन्य रूप से लेन-देन की बात सामने आई थी। इसके बाद अलग-अलग एजेंसी की रिपोर्ट आने के बाद आखिर में सीवीसी द्वारा आगे की कार्रवाई शुरू की गई। 


अस्थाना की नियुक्ति को दी थी चुनौती: लाल डायरी के आधार पर दिल्ली की कॉमन कोजनाम एनजीओ के वकील प्रशांत भूषण ने नवंबर-2011 में राकेश अस्थाना की सीबीआई में हुई नियुक्ति को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दी थी। डायरी में लिखे गए नामों के आधार पर अगस्त-2017 में पहली शिकायत दर्ज हुई थी। इसी मामले में अक्टूबर-2017 में बैंक अधिकारियों के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया गया था। डायरी में राकेश अस्थाना का नाम आर ए कोड वर्ड में लिखा गया था। डायरी से राकेश अस्थाना की बेटी की शादी में खर्च हुए करोड़ों रुपए का आंकड़ा सामने आया है। अस्थाना के बेटे का स्टर्लिंग बायोटेक में असिस्टेंट मैनेजर की पोस्ट पर ड्यूटी के दौरान किए गए आर्थिक लेन-देन का ब्यौरा भी डायरी से मिला है। 

 

लाल डायरी का घटनाक्रम 
जून-2011 : आयकर छापे में डायरी हाथ लगी। 
नवंबर-2017: प्रशांत भूषण ने डायरी के आधार पर कोर्ट में चुनौती दी। 
अक्टूबर-2017: बैंक अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ। 
अक्टूबर-2018: डायरी में आरए कोड वर्ड के आधार पर अस्थाना के खिलाफ जांच शुरू की गई है। 
अस्थाना का बेटा असि. मैनेजर के पद एक साल तक स्टार्लिंग बायोटेक में था।


बेटे को नौकरी दी: राकेश अस्थाना का बेटा अंकुश अस्थाना वर्ष-2011 से 2012 तक स्टर्लिंग बायोटेक में असि. मैनेजर के पद पर कार्यरत था। उसके कार्यकाल के दौरान स्टर्लिंग बायोटेक के साथ किए गए आर्थिक लेन-देन का ब्याैरा भी डायरी में मिला है। अस्थाना के बेटे ने अपने बायोडेटा और बिजनेश प्रोफाइल में स्टर्लिंग बायोटेक कंपनी में काम करने का उल्लेख किया है। 


एक करोड़ वडोदरा ट्रैफिक एजुकेशन ट्रस्ट में दिए थे: सांडेसरा परिवार ने वडोदरा में गरबा का आयोजन किया गया था। गरबा से इकट्‌ठा रकम में से 1 करोड़ रुपए ट्रैफिक एजुकेशन ट्रस्ट में जमा कराया गया था। वीटीएफटी द्वारा ट्रैफिक ब्रिगेड के जवानों को ट्रेंड कर शहर में तैनात किया जाता है। 

 

सांडेसरा और अस्थाना की पहचान एक जिम में हुई थी: सुप्रीम कोर्ट में पेश हलफनामा में वकील प्रशांत भूषण ने बताया है कि राकेश अस्थाना और स्टर्लिंग बायोटेक के चेतन सांडेसरा की पहचान एक जिम में हुई थी। दोनों के बीच गहरे संबंध होने के कारण अस्थाना की बेटी की शादी वडोदरा में हुई थी। प्रशांत भूषण ने सवाल उठाया है कि उस दौरान अस्थाना की पोस्टिंग दिल्ली में थी, इसके बावजूद वडोदरा में शादी क्यों की गई? शादी के बाद ही अस्थाना की सीबीआई में नियुक्ति हुई थी। अस्थाना के लिए नई पाेस्ट बनाई गई थी। नियुक्ति के बाद प्रशांत भूषण ने कोर्ट में चुनौती दी थी। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस अपोईमेंट को योग्य बताया था। 
अस्थाना की पत्नी ने बीमा पॉलिसी से की थी कमाई : राकेश अस्थाना की पत्नी एक इंश्योरेंस कंपनी में काम करती थी। अस्थाना जब वडोदरा में पुलिस कमिश्नर थे तब उनकी पत्नी ने शहर के उद्योगपतियों काे इंश्योरेंस पॉलिसी दी थी। अस्थाना की पत्नी ने पॉलिसी से तगड़ी कमाई की थी। 


किराएदारों द्वारा कब्जा किए गए सांडेसरा के फ्लैट को अस्थाना ने खाली कराया था : राकेश अस्थाना की बेटी की शादी लक्ष्मी विलास पैलेस में हुई थी। वडोदरा में राकेश अस्थाना का उद्योगपतियों के साथ अच्छे संबंध थे। अस्थाना ने स्टर्लिंग बायोटेक के फार्म हाउस में पार्टी की थी। लाल डायरी में अस्थाना की बेटी की शादी में सांडेसरा द्वारा किए गए खर्च का पूरा ब्यौरा दर्ज है। ज्ञातव्य है कि सांडेसरा परिवार के आलीशान फ्लैट पर किराएदारों ने कब्जा कर लिया था। राकेश अस्थाना ने अपने पद और रुतबे का इस्तेमाल कर किराएदारों से फ्लैट को खाली कराया था। 


सांडेसरा बंधुओं ने कराई थी पुलिस भवन की मरम्मत:जर्जर पुलिस भवन की मरम्मत के लिए सांडेसरा परिवार ने 40 लाख रुपए दिया था। राकेश अस्थाना जब वडोदरा के पुलिस कमिश्नर थे तब रिनोवेशन का काम किया गया था। सांडेसरा बंधुओं और अस्थाना के बीच अच्छे संबंध थे। 


 

खबरें और भी हैं...