कैसे हुआ गणेशजी का जन्म, किसने और कैसे काटा उनका सिर, जानिए क्या लिखा है पुराणों में

dainikbhaskar.com | Sep 12,2018 20:51 PM IST

Ganesh Chaturthi|गणपति स्थापना| गणेश चतुर्थी| भगवान गणेश के जन्म और सिर कटने के बारे में पुराणों में अलग-अलग बातें बताई गई हैं, लेकिन शिवपुराण के अनुसार माता पार्वती ने अपने शरीर के उबटन से गणेश जी को जन्म दिया। इसके अलावा उनके सिर कटने की कथा भी शिव पुराण में अलग और ब्रह्मवैवर्त पुराण में अलग है। शिवपुरण के अनुसार भगवान शिव ने क्रोध में आकर गणेश जी का सिर काट दिया था, वहीं ब्रह्मवैवर्त पुराण में बताया गया है कि शनि की टेढ़ी नजर गणेश जी के सिर पर पड़ने से उनका सिर कट गया था।

जापान सहित अन्य देशों में भी होती है गणेश पूजा, इंडोनेशिया में 20 हजार के नोट पर है गणपति जी की फोटो

dainikbhaskar.com | Sep 12,2018 14:11 PM IST

भगवान गणेश की पूजा भारत के अलावा विदेशों में भी होती है। नेपाल में गणेश मंदिर की स्थापना सबसे पहले सम्राट अशोक की पुत्री चारूमित्रा ने की थी। वहां के लोग भगवान गणेश को सिद्धिदाता और संकटमोचन के रूप में मानते हैं। परेशानियों से बचने के लिए वहां गणेश जी की पूजा की जाती है। वहीं चीन के प्राचीन हिन्दू मंदिरों में चारों दिशाओं के द्वारों पर गणेश जी स्थापित है। इसके अलावा तिब्बत में गणेश जी को दुष्टात्माओं के दुष्प्रभाव से रक्षा करने वाला देवता माना जाता है।