बुद्ध जयंती / हर मनुष्य को जानना चाहिए भगवान गौतम बुद्ध के बताए हुए 4 आर्यसत्य



Buddha Purnima 2019: Every Human Should Know About Four Noble Truths Aryasatya Told by Goutam Buddha
X
Buddha Purnima 2019: Every Human Should Know About Four Noble Truths Aryasatya Told by Goutam Buddha

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 04:38 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस दिन ही भगवान बुद्ध का महापरिनिर्वाण भी मनाया जाता है। भगवान बुद्ध का जन्म, ज्ञान प्राप्ति और महापरिनिर्वाण ये तीनों एक ही दिन अर्थात वैशाख पूर्णिमा पर हुए थे। इस बार बुद्ध पूर्णिमा 18 मई को है। बौद्ध धर्म को मानने वाले लोगों के साथ ही हिन्दू धर्म के अनुयायियों के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा बेहद महत्व रखता है। कुछ ग्रंथों के अनुसार भगवान बुद्ध नारायण के अवतार हैं। उन्होंने लगभग 2500 साल पहले धरती पर लोगों को अहिंसा और दया का ज्ञान दिया था।

 

  • भगवान बुद्ध द्वारा बताए गए 4 आर्यसत्य

1. दुख : संसार में दुःख है,

2. समुदय: दुःख के कारण हैं,

3. निरोध: दुःख के निवारण हैं,

4. मार्ग: निवारण के लिए मार्ग हैं।

 

बुद्ध ने बताया कि सुख प्राप्ति से पहले हर इंसान को ये बातें जान लेनी चाहिए

 

1. दुख है 

  • महात्मा बुद्ध ने जो प्राणी जगत को पहला आर्य सत्य का ज्ञान दिया वह है 'संसार में दुःख है'। महात्मा बुद्ध ने अपने पहले आर्य सत्य में यह बताया कि इस संसार में कोई भी प्राणी ऐसा नहीं है जिसे दुःख ना हो। इसलिए दुःख में भी सदैव प्रसन्न रहना चाहिए।

 

2. दुख का कारण इच्छा है

  • महात्मा बुद्ध ने दूसरा आर्य सत्य बताया कि दुःख का प्रमुख कारण तृष्णा (तीव्र ईच्छा ) है। इसलिए किसी भी चीज के प्रति अत्यधिक तृष्णा नहीं रखना चाहिए। ऐसा करने से दुख से बचा जा सकता है।

 

3. हर दुख का निवारण है 

  • महात्मा बुद्ध ने तीसरा आर्य सत्य उपदेश ये बताया कि इस संसार में जितने भी दुःख हैं उनका निवारण है। ऐसा कोई दुख नहीं जिसका कोई हल नहीं हो।

 

4.दुख निवारण के उपाय भी है

  • महात्मा बुद्ध ने चौथा आर्य सत्य बताया कि दुखों के निवारण के उपाय भी मौजूद है। दुःख की समाप्ति के लिए मनुष्य को सदमार्ग (अष्टांगिक मार्ग) से परिचित होना चाहिए।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना