कौटिल्य ज्ञान / चाणक्य नीति के अनुसार हर इंसान और जानवर में ये 4 बातें होती है कॉमन



Chanakya Niti: These 4 Things Are Common in Humans And Animals Learning From Chanakya Niti
X
Chanakya Niti: These 4 Things Are Common in Humans And Animals Learning From Chanakya Niti

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 07:01 AM IST

चाणक्य नीति के 17 वें अध्याय के 17 वें श्लोक में बताया गया है कि इंसान और जानवर में 4 बातें समान होती हैं। इस श्लोक में चाणक्य ने इंसानों के उस गुण के बारे में बताया जो इंसान को जानवरों से अलग बनाता है। आचार्य चाणक्य के अनुसार एक ही गुण किसी इंसान को जानवर होने से बचाता है। अपने नीति शास्त्र में चाणक्य कहते हैं कि हर इंसान को खुद को पहचानना चाहिए और अपने उस गुण को नहीं खाेना चाहिए जो आपको जानवरों से अलग बनाता है।

 

  • चाणक्य नीति का श्लोक

आहारनिद्राभयमैथुनानिसमानि

चैतानि नृणां पशूनाम् ।

ज्ञानं नराणामधिको विशेषो

ज्ञानेन हीनाः पशुभिः समानाः ॥ १७ -१७

 

चाणक्य नीति के इस श्लोक का मतलब है कि हर इंसान और जानवर की प्राथमिकता पेट भरना है। उनके लिए सोना भी उतना ही जरूरी है। इसके साथ ही हर जीव मैथुन करता है। वहीं इंसान और जानवर दोनों में भय बना रहता है। यानी दोनों की अपनी जीवन की रक्षा भी प्राथमिकता से करते हैं। लेकिन जानवरों की इन 4 बातों के अलावा इंसानों में एक बात और होती है जो उन्हें अलग बनाती है। भगवान ने इंसानों को ज्ञान दिया जो कि जानवरों से अलग बनाता है। चाणक्य कहते हैं कि इंसान बिना ज्ञान के जानवरों के ही समान है। यानी जो मनुष्य अपना ज्ञान नहीं बढ़ाता या ज्ञान का उपयोग नहीं करता वो जानवर के समान है।

COMMENT