रामायण में सिर्फ श्रीराम को वनवास जाना था, वे चाहते थे सीता मां कौशल्या के पास ही रहे, लेकिन सीता नहीं मानीं / रामायण में सिर्फ श्रीराम को वनवास जाना था, वे चाहते थे सीता मां कौशल्या के पास ही रहे, लेकिन सीता नहीं मानीं

पति-पत्नी ध्यान रखेंगे श्रीराम और सीता से जुड़ी एक बात तो प्रेम बना रहेगा

dainikbhaskar.com

Nov 09, 2018, 04:27 PM IST
family management tips, ramayana and facts about sita and shri ram

रिलिजन डेस्क। पति-पत्नी के रिश्ते में तब तनाव उत्पन्न हो जाता है, जब वे एक-दूसरे की बजाय खुद को अधिक महत्व देने लगते हैं। वैवाहिक जीवन में एक-दूसरे के प्रति समर्पण का भाव होना बहुत जरूरी है। समर्पण का भाव यानी स्वयं को और खुद की सुख-सुविधाओं को पूरी तरह से जीवन साथी को सौंप देना। खुद को महत्व न देते हुए जीवन साथी को महत्व देना ही समर्पण है। इस भाव की कमी से प्रेम भी खत्म होने लगता है। जीवन प्रबंधन गुरु पं. विजयशंकर मेहता के अनुसार रामायण में श्रीराम और सीता के वैवाहिक जीवन में एक-दूसरे के प्रति पूरी तरह समर्पण का भाव देख सकते हैं।

जब श्रीराम को जाना था वनवास

श्रीरामजी को वनवास जाना था, उस समय वे चाहते थे सीताजी मां कौशल्या के पास ही रुक जाएं। जबकि सीताजी श्रीराम के साथ वनवास जाना चाहती थीं। कौशल्याजी भी चाहती थीं सीता न जाए। सास, बहू और बेटा, यहां इन तीनों के बीच त्रिकोण पैदा हो गया था। अक्सर इस त्रिकोण में कई वैवाहिक रिश्ते बिगड़ जाते हैं, लेकिन श्रीराम के धैर्य, सीताजी और कौशल्याजी की समझ ने रघुवंश का इतिहास ही बदल दिया।

श्रीराम ने सीता को समझाया

श्रीराम ने सीता को समझाया कि वन में कई प्रकार के कष्टों का सामना करना पड़ेगा। वहां भयंकर राक्षस होंगे, सैकड़ों सांप होंगे, वन की धूप, ठंड और बारिश भी भयानक होती है, समय-समय पर मनुष्यों को खाने वाले जानवरों का सामना करना पड़ेगा, तरह-तरह की विपत्तियां आएंगी। इन सभी परेशानियों का सामना करना किसी सुकोमल राजकुमारी के लिए बहुत ही मुश्किल होगा। इस प्रकार समझाने के बाद भी सीता नहीं मानीं और वनवास में साथ जाने के लिए श्रीराम और माता कौशल्या को मना लिया। सीता ने श्रीराम के प्रति समर्पण का भाव दर्शाया और अपने स्वामी के साथ वे भी वनवास गईं। समर्पण की इसी भावना की वजह से श्रीराम और सीता का वैवाहिक जीवन दिव्य माना गया है। भगवान के अवतारों की ये घटनाएं हमें बड़े-बड़े संदेश देती हैं।

X
family management tips, ramayana and facts about sita and shri ram
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना