नॉलेज / शिखर और धार्मिक वातावरण की वजह से मंदिर में बनी रहती है सकारात्मकता



interesting fact about temple
X
interesting fact about temple

Dainik Bhaskar

Oct 20, 2018, 01:51 PM IST

रिलिजन डेस्क. किसी भी मंदिर और वहां स्थापित भगवान की मूर्तियां भक्त की आस्था और विश्वास को बढ़ाती हैं। मंदिर देखते ही लोग श्रद्धा के साथ सिर झुकाकर भगवान के प्रति अपनी भक्ति प्रकट करते हैं। आमतौर पर हम मंदिर भगवान के दर्शन और विभिन्न इच्छाओं की पूर्ति के लिए जाते हैं, लेकिन मंदिर जाने से हमें और भी कई और लाभ भी प्राप्त होते हैं। उज्जैन के भागवत कथाकार पं. मनीष शर्मा के अनुसार जानिए मंदिर जाने से कौन-कौन से लाभ मिलते हैं...


- मंदिर वह स्थान है, जहां जाकर मन को शांति प्राप्त होती है और नई शक्ति का अहसास होता है। हमारा मन-मस्तिष्क प्रसन्न हो जाता है। मंत्रों के स्वर, घंटियों, शंख और नगाड़ों की आवाज हमारी ऊर्जा बढ़ाती है।


वैज्ञानिक तरीके से बनाए जाते हैं मंदिर

  • मंदिरों का निर्माण पूर्ण वैज्ञानिक विधि से किया जाता है। मंदिर का वास्तुशिल्प ऐसा होता है, जिससे वहां पवित्रता, शांति और दिव्यता बनी रहती है। मंदिर की छत ध्वनि सिद्धांत को ध्यान में रखकर बनाई जाती है, जिसे गुंबद कहा जाता है।
  • शिखर के केंद्र बिंदु के ठीक नीचे मूर्ति स्थापित होती है। गुंबद के कारण मंदिर में किए जाने वाले मंत्रों के स्वर और अन्य ध्वनियां गूंजती हैं तथा वहां उपस्थित व्यक्ति को प्रभावित करती है।
  • गुंबद और मूर्ति का केंद्र एक ही होने से मूर्ति में निरंतर ऊर्जा प्रवाहित होती रहती है। जब हम उस मूर्ति को स्पर्श करते हैं, उसके आगे सिर टिकाते हैं तो हमारे अंदर भी वह ऊर्जा प्रवेश करती है। इस ऊर्जा से शक्ति, उत्साह और प्रसन्नता का संचार होता है।
     
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना