ज्ञान / सुखी रहना चाहते हैं तो देश, काल और परिस्थितियों को समझकर बढ़ना चाहिए आगे



life management tips from ramayana, ramayana, ramcharit manas, shriram and sugreev, hanuman and shriram
X
life management tips from ramayana, ramayana, ramcharit manas, shriram and sugreev, hanuman and shriram

रामायण में बालि ने अंगद से कहा कि मेरे बाद अब सुग्रीव के साथ रहो

Dainik Bhaskar

Aug 21, 2019, 04:23 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क। रामायण में हनुमानजी ने श्रीराम और सुग्रीव की मित्रता करवाई। तब श्रीराम ने सुग्रीव को वचन दिया था कि वे बालि से रक्षा करेंगे और राज्य पुन: दिलवाएंगे। इसके बाद श्रीराम ने बालि का वध किया और सुग्रीव को राजा बनाया। जब श्रीराम ने बालि को बाण मारा तो वह घायल होकर पृथ्वी पर गिर पड़ा। उसका पुत्र अंगद उसके पास आया, तब बालि ने उसे ज्ञान की कुछ बातें बताई थीं।
बालि ने अंगद से कहा कि - देशकालौ भजस्वाद्य क्षममाण: प्रियाप्रिये।
सुखदु:खसह: काले सुग्रीववशगो भव।।

इस श्लोक में बालि ने अगंद से कहा है कि सुखी रहने के लिए देश, काल और परिस्थितियों को समझकर आगे बढ़ना चाहिए। देश यानी जहां हम रहते हैं, काल यानी समय और परिस्थितियां यानी हालात कैसे हैं, इन बातों का ध्यान हमेशा रखना चाहिए। किसके साथ कब, कहां और कैसा व्यवहार करें, इसका सही निर्णय लेना चाहिए। पसंद-नापसंद, सुख-दु:ख को सहन करना चाहिए और क्षमाभाव के साथ जीवन व्यतीत करना चाहिए। बालि ने अंगद से कहा ये बातें ध्यान रखते हुए अब से सुग्रीव के साथ रहो।

  • मरते समय बालि ने अपने पापों के लिए श्रीराम की थी क्षमा याचना

जब बालि श्रीराम के बाण से घायल होकर पृथ्वी पर गिर पड़ा, तब बालि में श्रीराम से कहा कि आप धर्म की रक्षा करते हैं तो मुझे इस प्रकार छिपकर बाण क्यों मारा?

श्रीराम ने कहा कि छोटे भाई की पत्नी, बहन, पुत्र की पत्नी और पुत्री, ये सब समान होती हैं और जो व्यक्ति इन्हें बुरी नजर से देखता है, उसे मारने में कोई दोष नहीं लगता है। बालि, तूने अपने भाई सुग्रीव की पत्नी पर बुरी नजर रखी और सुग्रीव को मारना चाहा। इस पाप के कारण मैंने तुझे मारा है। 

बालि को अपने किए गए कर्मों पर पछतावा हुआ। उसने श्रीराम से अपने पापों की क्षमा याचना की। इसके बाद बालि ने अगंद को सुग्रीव और श्रीराम की सेवा में सौंप दिया। इसके बाद श्रीराम में सुग्रीव को राजा बना दिया।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना