विज्ञापन

पति गर्भवती पत्नी को छोड़कर विदेश चला गया, उसने बहुत पैसा कमाया, 20 साल बाद वह जहाज से घर लौट रहा था, जहाज में उसने एक आदमी से 500 स्वर्ण मुद्राओं में ज्ञान का सूत्र खरीद लिया

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 08:16 PM IST

पति-पत्नी के रिश्ते में की गई छोटी सी गलती से बर्बाद हो सकता है पूरा परिवार

motivational story about happy married life, inspirational story in hindi, married couple
  • comment

रिलिजन डेस्क। पुरानी लोक कथा के अनुसार एक व्यक्ति की शादी को दो साल हो गए थे। वह बहुत मेहनत करता था, लेकिन गरीबी पीछा नहीं छोड़ रही थी। गरीबी दूर करने के लिए उसने सोचा कि विदेश जाकर धन कमाना चाहिए। ये बात उसने अपने पिता और पत्नी को बताई। उसकी पत्नी गर्भवती थी, इस कारण दोनों इस बात के लिए राजी नहीं हुए, लेकिन वह व्यक्ति जिद पर अड़ गया। रात में जब पिता और गर्भवती पत्नी सो रहे थे, तब वह घर से थोड़ा बहुत पैसा लेकर दोनों को छोड़कर विदेश चला गया।

> विदेश पहुंचकर उस व्यक्ति ने खूब मेहनत की और 20 साल में वह भी धनवान बन गया। बहुत पैसा कमाने के बाद उसने सोचा कि अब अपने घर लौटना चाहिए। ये सोचकर वह जहाज से अपने देश लौट रहा था। जहाज में उसे एक आदमी मिला। वह आदमी ज्ञान के सूत्र बेचता था। उसने धनी व्यक्ति से कहा कि मैं यहां ज्ञान के सूत्र बेचने आया था, लेकिन कोई खरीदार नहीं मिला, इस कारण खाली हाथ घर लौट रहा हूं।

> धनी व्यक्ति ने सोचा कि मेरे पास तो बहुत पैसा है, एक सूत्र मैं खरीद लेता हूं। आदमी ने बताया कि उसका एक सूत्र 500 स्वर्ण मुद्राओं का है। धनवान ने 500 स्वर्ण मुद्राएं दे दीं। उस आदमी ने एक कागज पर लिखा कि कोई काम करने से पहले दो मिनट रुककर सोच लेना चाहिए। धनी व्यक्ति ने ये कागज संभालकर अपनी जेब में रख लिया।

> कुछ दिनों के बाद रात के समय धनी व्यक्ति अपने शहर पहुंच गया। वह अपनी पत्नी और पिता को खुश करने के लिए चुपचाप अपने घर में घुस गया। जब वह पत्नी के कमरे में पहुंचा तो उसने देखा कि उसकी पत्नी के पास एक लड़का सो रहा है। ये देखते ही वह गुस्से में जलने लगा। वह सोच रहा था कि मैं तो विदेश में इसके लिए पैसा कमा रहा था, रोज इसे याद कर रहा था और इसने दूसरी शादी कर ली। गुस्से में उसने कमरे में रखा चाकू उठाया और पत्नी को मारने के लिए बढ़ने लगा। तभी उसे ज्ञान का सूत्र याद आया कि कुछ भी काम करने से पहले दो मिनट रुककर सोच लेना चाहिए।

> वह रुका और सोच रहा था, तब उसके हाथ से एक बर्तन जमीन पर गिर गया। आवाज हुई तो तुरंत ही उसकी पत्नी उठ गई। उसने कमरे में रोशनी की तो देखा कि उसके पति सामने खड़े थे। पति को देखते ही उसने पास में सोए हुए लड़के को उठाया। वह बोल रही थी बेटा उठ, तेरे पिताजी आए हैं। ये सुनते ही वह व्यक्ति पसीने-पसीने हो गया। वह सोचने लगा कि अगर वह दो मिनट नहीं रुकता तो उसके हाथों से सबकुछ बर्बाद हो जाता। ज्ञान के सूत्र ने अनहोनी होने से बचा लिया।

> उसका बेटा उठा और उसने पिता के चरण स्पर्श किए तो उसके बाल खुल गए। पत्नी ने पति से कहा कि आपके जाने के बाद मैंने पुत्री को जन्म दिया था। कुछ दिनों बाद आपके पिता का स्वर्गवास हो गया। इसके बाद मैंने अपनी पुत्री को लोगों की बुरी नजरों से बचाने के लिए इसे लड़के की तरह पाला है। ताकि समाज में कोई इसे बुरी नजर से न देखे। उस व्यक्ति ने रोते हुए पत्नी और बेटी को गले से लगा लिया। उसे समझ आ गया कि उसे ज्ञान का सूत्र महंगा लग रहा था, लेकिन ये अनमोल सूत्र है। इसकी वजह से उसका परिवार तबाह होने से बच गया।

कथा की सीख

इस कथा की सीख यह है कि ज्ञान तो अनमोल है। जब कोई काम करना हो तो दो मिनट रुककर सोच लेना चाहिए। जल्दबाजी में कोई भी काम नहीं करना चाहिए। खासतौर पर वैवाहिक जीवन में जब भी गुस्सा आए तो पति-पत्नी को ये सूत्र हमेशा याद रखना चाहिए, वरना सबकुछ बर्बाद हो सकता है।

X
motivational story about happy married life, inspirational story in hindi, married couple
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन