प्रेरक कथा : दो मेंढक एक गहरे गड्ढे में गिर गए, उनके साथी मेंढक चिल्लाने लगे कि अब तुम दोनों इसी गड्ढे में मर जाओगे, ये बहुत गहरा है और इससे बाहर निकलना असंभव है, ये सुनकर एक मेंढक ने हार मान ली

अगर हम दूसरों की निराश करने वाली बातों पर ध्यान नहीं देंगे तो बुरे से बुरा समय दूर कर सकते हैं

dainikbhaskar.com

Mar 17, 2019, 08:43 PM IST
motivational story about two frog, two frog fell into a deep pit, inspirational story of 2 frog

रिलिजन डेस्क। दो मेंढकों से जुड़ी एक बहुत चर्चित लोक कथा है। इस कथा के अनुसार मेंढकों का एक झुंड किसी जंगल से गुजर रहा था। तभी उनके दो साथी एक गहरे गड्ढे में गिर गए। सभी मेंढकों ने देखा कि ये गड्ढा तो बहुत गहरा है और इससे बाहर निकलना असंभव है। गड्ढे में गिरे हुए मेंढक लगातार उछल-उछलकर गड्ढे से बाहर निकलने की कोशिश कर रहे थे।

> गड्ढे के बाहर खड़े मेंढकों ने दोनों को उछलते देखा तो वे चिल्लाने लगे कि अब तुम दोनों इसी गड्ढे में मर जाओगे, ये बहुत गहरा है और तुम बाहर नहीं निकल पाओगे।

> गड्ढे के अंदर दोनों लगातार प्रयास कर रहे थे और बाहर खड़े मेंढक दोनों को निराश करने वाली बातें बोल रहे थे। तभी अंदर गिरे हुए एक मेंढक ने बाहर खड़े मेंढकों को बातें सुन ली। उसने भी ये मान लिया कि अब इस गड्ढे से बाहर नहीं निकल पाएंगे। हार मानकर उसने प्रयास करना बंद कर दिया और खुद को मरने के लिए छोड़ दिया।

> दूसरा मेंढक अभी भी कोशिश कर रहा था। बाहर खड़े हुए मेंढक चिल्ला रहे थे कि अब तुम्हारी मौत निश्चित है, बाहर निकलने का प्रयास मत करो, लेकिन दूसरे मेंढक ने कोशिश करना बंद नहीं की। उसकी मेहनत रंग लाई और अचानक ही वह इतनी ऊपर उछला कि गड्ढे से बाहर आ गया।

> बाहर खड़े मेंढक ये देखकर हैरान हो गए। सभी ने उससे पूछा कि तुमने हमारी बातें नहीं सुनी? उस मेंढक ने बताया कि वह सुन नहीं सकता, वह गड्ढे में सोच रहा था कि आप सभी मेरा उत्साह बढ़ा रहे हैं, इसीलिए मैं पूरी ताकत से कोशिश कर रहा था और मैं बाहर आ गया।

कथा की सीख

जीवन में जब बुरा समय आता है तो लोग हमें कई तरह की सलाह देते हैं। कुछ लोग हमें निराश करने वाली बातें करते हैं। वे कहते हैं कि अब कुछ नहीं हो सकता, अब बुरे दिन दूर नहीं हो पाएंगे। हमें ऐसी बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए। हमें सकारात्मक सोच के साथ लगातार कोशिश करते रहना चाहिए। पूरी ईमानदारी से किए गए प्रयासों में सफलता जरूर मिलती है। इसीलिए हार नहीं माननी चाहिए। सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ेंगे तो बुरे से बुरा समय दूर हो सकता है।

X
motivational story about two frog, two frog fell into a deep pit, inspirational story of 2 frog
COMMENT

Recommended News

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना