विज्ञापन

यमराज ने एक युवक को दिव्य पुस्तक दी और कहा कि इसमें तुम जो लिखोगे, वही होगा, तुम अपनी मृत्यु टाल सकते हो, भाग्य बदल सकते हो, लेकिन तुम्हारे पास समय बहुत कम है

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2019, 07:35 PM IST

अगर व्यक्ति दूसरा का बुरा करेगा तो उसका भला नहीं हो पाएगा

motivational story about yamraj, inspirational story, yamraj and motivational story
  • comment

रिलिजन डेस्क। पुरानी लोक कथा के अनुसार एक युवक को यमराज मिले, लेकिन वह उन्हें पहचान नहीं सका। उसने यमराज को पानी पिलाया। इसके बाद यमराज ने युवक से कहा कि मैं तुम्हारे प्राण लेने आया हूं, लेकिन तुमने मुझे पानी पीने के लिए दिया, इस कारण मैं तुमसे खुश हूं। तुम्हें एक अवसर देता हूं, तुम अपना भाग्य बदल सकते हो। ये कहकर यमराज ने एक दिव्य पुस्तक युवक को दी और कहा कि इस पुस्तक में तुम्हारे नाम का भी एक पृष्ठ है। वहां तुम अपने लिए जो चाहते हो, वह लिख सकते हो। जैसा लिखोगे, वैसा ही होगा, तुम अपनी मृत्यु टाल सकते हो, भाग्य बदल सकते हो, लेकिन एक बात का ध्यान रखना, तुम्हारे पास ज्यादा समय नहीं है। इसीलिए जल्दी ही अपने लिए जो कुछ लिखना चाहते हो तो लिख देना।

> युवक ने पुस्तक हाथ में ली और जैसे ही उसे खोला तो उसमें लिखा था कि तुम्हारे दोस्त को खजाना मिलने वाला है।

> युवक ने वहां लिख दिया कि उसे खजाना न मिले। अगला पृष्ठ खोला तो उस पर लिखा था कि तुम्हारा पड़ोसी राजा का मंत्री बनने वाला है।

> युवक ने वहां लिख दिया कि वह मंत्री न बने। कुछ ही देर में उसे अपने नाम का पृष्ठ मिला, वह खुद के लिए अच्छा-अच्छा लिखने के लिए सोचने लगा, लेकिन जैसे ही वह लिखने वाला था, यमराज ने उससे पुस्तक ले ली।

> यमराज ने युवक से कहा कि अब तुम्हारा समय खत्म हो गया है। तुम दूसरों का बुरा करने के चक्कर में खुद का भला नहीं कर सके। युवक को पछतावा होने लगा कि उसने सुनहरा अवसर खो दिया। इसके बाद यमराज ने उस युवक के प्राणों का हरण कर लिया।

कथा की सीख

इस कथा की सीख यह है कि काफी लोग दूसरों का बुरा सोचते रहते हैं, मौका मिलने पर दूसरों का बुरा करते हैं, इस चक्कर में वे कई बार खुद का भला करने का अवसर खो देते हैं। हम दूसरों का भला न कर सके तो कम से कम किसी का बुरा भी नहीं करना चाहिए। यही सच्ची मानवता है। अगर वह युवक अपने मित्र और पड़ोसी का बुरा नहीं सोचता तो खुद का भाग्य बदल सकता था, लेकिन उसने पहले उनका बुरा सोचा और खुद के प्राण नहीं बचा सका।

X
motivational story about yamraj, inspirational story, yamraj and motivational story
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन