सुखी जीवन / बुरी आदतों को तुरंत छोड़ देना चाहिए, वरना गलत आदतें छोड़ना मुश्किल हो जाएगा



motivational story, inspirational story, story about bad habits, prerak prasang
X
motivational story, inspirational story, story about bad habits, prerak prasang

  • संत ने बच्चे से कहा कि छोटा पौधा उखाड़ दो, बच्चे तुरंत उखाड़ दिया, लेकिन बड़ा पेड़ नहीं उखाड़ सका

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2019, 05:06 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क। एक लोक कथा के अनुसार एक पिता अपने छोटे बेटे की बुरी आदतों के कारण परेशान था। वह कई बार उसे समझा चुका था, लेकिन बच्चा हर बार यही कहता था कि वह बड़ा होकर ये आदतें छोड़ देगा। कुछ दिनों बाद इन लोगों के गांव में एक संत आए।

  • संत बहुत ही विद्वान और सरल स्वभाव वाले थे। जो भी उनसे मिलने आता था, उससे आसानी से मिलते और भक्तों की समस्याओं का निराकरण करते थे। जब ये बात उस पिता को मालूम हुई तो वह संत से मिलने पहुंचा और अपनी समस्या बता दी। संत ने उससे कहा कि तुम कल बाग में अपने बेटे को मेरे पास भेज देना।
  • अगले दिन पिता ने अपने बेटे को संत के पास बताए गए बाग में भेज दिया। बच्चे ने संत को प्रणाम किया और दोनों बाग में टहलने लगे। कुछ देर बाद संत ने बच्चे को एक छोटा सा पौधा दिखाया और कहा कि इसे उखाड़ सकते हो?
  • बच्चे ने कहा कि ये कौन सा बड़ा काम है, मैं इसे अभी उखाड़ देता हूं और बच्चे ने पौधा उखाड़ दिया। थोड़ी देर बाद संत ने बच्चे को थोड़ा बड़ा पौधा दिखाया और उसे उखाड़ने के लिए बोला। बच्चा खुश हो गया, उसे ये सब एक खेल की तरह लग रहा था। बच्चे ने पौधे को उखाड़ना शुरू किया तो उसे थोड़ी ज्यादा ताकत लगानी पड़ी, लेकिन उसने पौधा उखाड़ दिया। इसके बाद संत ने बच्चे को एक पेड़ दिखाया और कहा कि इसे उखाड़ दो। बच्चे ने पेड़ के तना पकड़ा, लेकिन वह उसे हिला भी नहीं सका। बच्चे ने कहा कि इस पेड़ को उखाड़ना असंभव है।
  • संत ने बच्चे से कहा कि ठीक इसी तरह बुरी आदतों को जितनी जल्दी छोड़ देंगे, उतना अच्छा रहेगा। जब बुरी आदतें नई होती हैं तो उन्हें छोड़ना आसान होता है, लेकिन आदतें जैसे-जैसे पुरानी होती जाएंगी, उन्हें छोड़ पाना बहुत मुश्किल हो जाएगा। बुरी आदतों की वजह से जीवन में दुख बढ़ता है। अगर हमेशा सुखी रहना चाहते हैं तो गलत आदतों को जल्दी से जल्दी छोड़ देना चाहिए।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना