विज्ञापन

श्रीराम के चेहरे के भाव देखकर सीता ने समझ लिया कि वे क्या सोच रहे हैं, इसके बाद सीता ने केवट को अंगूठी देकर श्रीराम की इच्छा पूरी कर दी / श्रीराम के चेहरे के भाव देखकर सीता ने समझ लिया कि वे क्या सोच रहे हैं, इसके बाद सीता ने केवट को अंगूठी देकर श्रीराम की इच्छा पूरी कर दी

dainikbhaskar.com

Dec 08, 2018, 05:39 PM IST

पति-पत्नी के बीच प्रेम गहरा होता है तो कुछ भी समझाने के लिए शब्दों की जरूरत नहीं होती

motivational story of ramayana, shri ram and sita, shri ramcharitmanas and facts
  • comment

रिलिजन डेस्क। रामायण जब श्रीराम, सीता और लक्ष्मण वनवास के लिए निकले तो रास्ते में उन्हें गंगा नदी पार करना थी। तब नाव के केवट ने श्रीराम के पैर पखारने की बाद कही तो श्रीराम भी इस बात के राजी हो गए। केवट ने श्रीराम के पैर धोए। इसके बाद केवट ने श्रीराम, लक्ष्मण, सीता को अपनी नाव में बैठाकर गंगा नदी पार करवा दी। गंगा नदी के दूसरे किनारे पर पहुंचकर श्रीराम और सभी नाव से उतर गए, तब श्रीराम के मन में कुछ संकोच हुआ।

इस संबंध में श्रीराम चरित मानस में लिखा है कि -

पिय हिय की सिय जाननिहारी। मनि मुदरी मन मुदित उतारी।।

कहेउ कृपाल लेहि उतराई। केवट चरन गहे अकुलाई।।

इस दोहे का अर्थ यह है कि जब सीता ने श्रीराम के चेहरे पर संकोच के भाव देखे तो सीता ने तुरंत ही अपनी अंगूठी उतारकर उस केवट को भेंट स्वरूप देनी चाही, लेकिन केवट ने अंगूठी नहीं ली। केवट ने कहा कि वनवास पूरा करने के बाद लौटते समय आप मुझे जो भी देंगे मैं उसे प्रसाद स्वरूप स्वीकार कर लूंगा।

ये है सुखी वैवाहिक जीवन का रहस्य

> इस प्रसंग में पति और पत्नी के लिए एक गहरा संदेश छिपा हुआ है। इस संदेश को समझ लेने पर वैवाहिक जीवन में किसी भी प्रकार परेशानियां नहीं आती हैं और आपसी तालमेल बना रहता है।

> जब सीता ने श्रीराम के चेहरे पर संकोच के भाव देखे तो उन्होंने समझ लिया कि वे केवट को कुछ भेंट देना चाहते हैं, लेकिन उनके पास देने के लिए कुछ नहीं था। यह बात समझते ही सीता ने अपनी अंगूठी उतारकर केवट को देने के लिए आगे कर दी।

> यह प्रसंग बताता है कि पति और पत्नी के बीच ठीक इसी प्रकार की समझ होनी चाहिए। जब दोनों के बीच प्रेम गहरा होता है तो कुछ बताने के लिए शब्दों की आवश्यकता नहीं होती, जीवन साथी के हाव-भाव को देखकर ही उसकी भावनाएं समझी जा सकती हैं। वैवाहिक जीवन में दोनों की आपसी समझ जितनी मजबूत होगी, वैवाहिक जीवन उतना ही ताजगीभरा और आनंददायक बना रहेगा।

X
motivational story of ramayana, shri ram and sita, shri ramcharitmanas and facts
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन