दर्शन / गुजरात के इस मंदिर में होती है मुस्लिम महिला की पूजा, माना जाता है लगभग 800 साल पुराना है मंदिर



Muslim Woman is Worshiped In This Temple, it is Believed That Temple About 800 Years old
X
Muslim Woman is Worshiped In This Temple, it is Believed That Temple About 800 Years old

Dainik Bhaskar

May 11, 2019, 04:30 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क. गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से लगभग 40 किलोमीटर दूर झूलासन नाम का एक गांव है। इस गांव की खासियत है यहां स्थित डोला माता का मंदिर। डोला माता का जिक्र हिंदू धर्म ग्रंथों में कहीं नहीं है। ये दुनिया में शायद ऐसा एकलौता हिन्दू मंदिर है, जिसमें एक मुस्लिम महिला की पूजा देवी रूप में की जाती है। माना जाता है इस मंदिर में की जाने वाली मन्नतें पूरी होती हैं। ये मंदिर हिन्दू-मुस्लिम एकता और मुस्लिम महिला की वीरता का प्रतिक है। रहवासियों के अनुसार डोला माता गांव की रक्षा करती हैं और लोगों की तकलीफें भी दूर करती हैं।

 

  • देवी के रुप में मुस्लिम महिला की होती है पूजा

इस मंदिर में डोला नाम की मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है। डोला के बारे में कहा जाता है कि करीब 800 साल पहले इस गांव पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। जिसमें डोला ने वीरतापूर्वक उन बदमाशों से गांव की रक्षा की और शहीद हो गई। कहा जाता है कि डोला का मृत शरीर एक फूल में बदल गया था। डोला की वीरता और सम्मान में गांव वालों ने उसी जगह पर मंदिर का निर्माण किया, जहां डोला ने अपने प्राण त्यागे थे और उसकी देवीय शक्ति के रूप में पूजा करने लगे।

 

  • मंदिर में नहीं है कोई मूर्ति

गांव के लोगों ने यहां पर डोला माता का एक भव्य मंदिर बनवाया। यह मंदिर भव्य होने के साथ-साथ बहुत ही सुंदर भी है। इस मंदिर के निर्माण में लगभग 4 करोड़ का खर्च किया गया था। इस मंदिर में कोई मूर्ति नहीं है, यहां केवल एक पत्थर है जिस पर रंगीन कपड़ा ढंका है। कपड़े से ढंके इसी पत्थर को डोला माता मान कर उसकी पूजा की जाती है।

 

  • मंदिर ही नहीं झुलासन गांव भी है खास

यह गांव तब सुर्खियों में आया था, जब भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स अपने पिता के साथ गांव में डोला माता नाम की देवी के दर्शन करने आई थीं। इस गांव की एक खासियत ये भी है कि करीब 5 हजार की आबादी वाले इस गांव में लगभग हर घर का कोई न कोई सदस्य विदेश में है। गांव के निवासी विष्णु पटेल ने बताया कि डोला माता के मुस्लिम होने के बावजूद गांव में एक भी मुस्लिम परिवार नहीं है। हालांकि, रविवार और गुरुवार को डोला माता के मन्नत का दिन माना जाता है। इस दिन आसपास के गांवों से बड़ी संख्या में मुस्लिम भी आते हैं।

 

  • अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स से जुड़ा है ये गांव

झुलासन गांव के जो लोग विदेशों में बसे हुए हैं, उनमें अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स के पिता दीपक पंड्या भी हैं। दीपक पंड्या 22 साल की उम्र तक झुलासन में ही रहते थे। उसके बाद वो अमरीका चले गए। सुनीता विलियम्स जब अंतरिक्ष में जाने वाली थीं तब अपने पिता के साथ डोला माता का आशीर्वाद लेने झुलासन आई थीं। मंदिर के पुजारी दिनेश पंड्या के अनुसार गांव का कोई भी एनआरआई या विदेश में शादी कर के लौटने वाला रहवासी एयरपोर्ट से सीधे डोला माता के दर्शन करने अाता है, उसके बाद ही घर जाता है। उन्होंने बताया कि सुनीता गांव की बेटी हैं। वो अंतरिक्ष से लौटने के बाद भी डोला माता के दोबारा दर्शन करने आई थीं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना