शादी के बाद राम ने सीता को दिया था एक वचन, धोबी के आरोप लगाने के बाद जब सीता को राम ने दिया था वनवास तब उन्होंने अपने लिए बनाए थे कठिन नियम / शादी के बाद राम ने सीता को दिया था एक वचन, धोबी के आरोप लगाने के बाद जब सीता को राम ने दिया था वनवास तब उन्होंने अपने लिए बनाए थे कठिन नियम

Dainikbhaskar.com

Dec 06, 2018, 04:10 PM IST

गृहस्थी में सिर्फ पत्नी नहीं, पति को भी रखना चाहिए अपने रिश्ते के लिए कुछ नियम

ram sita story ram katha and life management of lord rama in ramayan

रिलिजन डेस्क. अक्सर देखा जाता है कि भारतीय परिवारों में ज्यादातर व्रत-नियम आदि सिर्फ पत्नियों के लिए होते हैं। जिसकी समय-समय पर आलोचना भी होती रहती है। लेकिन, सनातन परंपरा में कभी ऐसा नहीं रहा है। पति-पत्नी दोनों के लिए कुछ कठिन नियम बनाए गए हैं. हालांकि आधुनिक युग में अब गृहस्थियों में काफी तनाव और बिखराव हो रहा है, जिसका मूल कारण एक-दूसरे प्रति समर्पण ना होना है। राम कथा में कुछ ऐसे प्रसंग आते हैं जो हमें सिखाते हैं कि वास्तव में पति-पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिए।

रामायण में सीता स्वयंवर के बाद जब राम सीता का विवाह हुआ। सीता राम के साथ अयोध्या आईं तब राम ने सबसे पहले सीता को उपहार में एक वचन दिया। राम ने सीता को ये वचन दिया था कि उनके जीवन में सीता के अलावा कोई स्त्री नहीं आएगी। उस समय राजाओं में कई विवाह करने की परंपरा थी लेकिन राम ने सीता के प्रति अपना समर्पण दिखाते हुए उन्हें ये वचन दिया था कि वे हमेशा एक पत्नी व्रत का पालन करेंगे। साथ ही, ये भी भरोसा दिलाया था कि जिस स्थिति में सीता रहेंगी, खुद भी वैसे ही रहेंगे। इस बात का प्रमाण राम ने रावण वध के बाद दिया भी।

रावण को मारने के बाद जब अयोध्या आकर राम ने राज्य संभाला तो धोबी ने सीता के चरित्र पर सवाल उठाया। समाज में कोई बुरी परंपरा शुरू ना हो, इस कारण राम को सीता का त्याग करके उन्हें वनवास देना पड़ा। जब सीता वनवास पर गईं तब राम ने अपने लिए कुछ कठिन नियम बना लिए। राजा होने के बाद भी वो जमीन पर सोते, वैसा ही खाना खाते जैसा वनवास में रहने पर कोई इंसान खा सकता है, सारे उत्सव और विलासिता से उन्होंने खुद को दूर कर लिया। महल में रहकर भी उन्होंने सीता की तरह ही वनवासी जीवन बिताया। ये प्रसंग हमें समझाता है कि पति-पत्नी के बीच किस तरह का समर्पण होना चाहिए। सारे नियम सिर्फ महिलाओं पर ना थोपे जाएं, पुरुषों को भी अपनी गृहस्थी और पत्नी के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को समझना और निभाना चाहिए।

X
ram sita story ram katha and life management of lord rama in ramayan
COMMENT