फैमिली मैनेजमेंट / पति-पत्नी को एक-दूसरे की सलाह का सम्मान करना चाहिए



ramcharit manas, family management tips, religious tips for couples
X
ramcharit manas, family management tips, religious tips for couples

  • रामायण में रावण ने नहीं मानी मंदोदरी की सलाह और बर्बाद हो गई पूरी लंका

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 04:39 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क। वैवाहिक जीवन में तालमेल की कमी हो जाए तो पति-पत्नी के बीच वाद-विवाद होने लगते हैं। तालमेल बनाए रखने के लिए पति-पत्नी को एक-दूसरे का अच्छा सलाहकार बनना चाहिए। यदि जीवन साथी गलत काम करता है तो उसे समझाना चाहिए, गलत काम करने से रोकना चाहिए। सुखी वैवाहिक जीवन के लिए पति-पत्नी की सही सलाह मानकर आगे बढ़ना चाहिए। इस प्रकार एक-दूसरे के दोषों को दूर करके तालमेल बनाए रखेंगे तो जीवन सुखी और शांत बना रहेगा। श्रीरामचरित मानस के अनुसार रावण और मंदोदरी के वैवाहिक जीवन से ये बात समझ सकते हैं...
रावण ने नहीं मानी मंदोदरी की सलाह
रामायण में जब श्रीराम अपनी वानर सेना के साथ समुद्र पार करके लंका पहुंच गए, तब मंदोदरी समझ गई थी कि लंकापति रावण की पराजय निश्चित है। इस वजह से मंदोदरी ने रावण को समझाने का बहुत प्रयास किया कि वे श्रीराम से युद्ध ना करें। सीता को लौटा दें। श्रीराम स्वयं भगवान का अवतार हैं। मंदोदरी ने कई बार रावण को सलाह दी और समझाने की कोशिश की कि श्रीराम से युद्ध करने लंका के लिए अच्छा नहीं होगा, लेकिन रावण नहीं माना। श्रीराम के साथ युद्ध किया और अपने सभी पुत्रों और भाई कुंभकर्ण के साथ ही स्वयं भी मृत्यु को प्राप्त हुआ। पूरी लंका रावण की जिद की वजह से बर्बाद हो गई।
प्रसंग की सीख
इस प्रसंग की सीख यह है कि जीवन साथी को गलत काम करने से रोकना चाहिए। सही-गलत को समझते हुए एक-दूसरे को सही सलाह देनी चाहिए और एक-दूसरे की सही सलाह माननी भी चाहिए।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना