पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

यहां शनि को तेल चढ़ाने के बाद गले भी लगाते हैं लोग, रामायण काल से जुड़ा है मंदिर

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मान्यता है कि लंका से हनुमान के फेंकने पर यहां गिरे थे शनिदेव, आज भी हैं गिरने का निशान

जीवन मंत्र डेस्क.  मध्य प्रदेश में ग्वालियर से 18 किमी दूर मुरैना जिले में बना शनि मंदिर कई मामलों में काफी अलग है। मंदिर का नाम है शनिश्चरा मंदिर। इसका इतिहास रामायण काल से जुड़ा है। यह देश के सबसे प्राचीनतम शनि मंदिरों में से एक माना जाता है। शनिदेव के यहां विराजित होने के कारण इस जगह को बहुत ही प्रभावशाली माना जाता है। इस मंदिर की खासियत ये है कि यहां लोग शनि को तेल चढ़ाने के बाद उन्हें गले लगाते हैं।

 

स्थानीय कथाओं के अनुसार, रावण ने शनिदेव को भी कैद कर रखा था। जब हनुमान जी माता सीता की खोज में लंका पहुंचे, तब उन्होंने वहां पर शनिदेव को रावण की कैद में देखा। भगवान हनुमान को देख शनिदेव ने उनसे यहां से आजाद करने की विनती की। शनिदेव के कहने पर भगवान हनुमान नो उन्हें लंका से कहीं दूर फेंक दिया, ताकि शनिदेव किसी सुरक्षित जगह पर जा सकें। हनुमान जी द्वारा लंका से फेंके जाने पर शनिदेव इस क्षेत्र में आकर प्रतिष्ठित हो गए और तब से यह क्षेत्र शनिक्षेत्र के नाम से विख्यात हो गया।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें