पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सूर्य पुत्र शनि है ग्रहों का न्यायाधीश और मकर-कुंभ राशि का है स्वामी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मकर राशि के लोगों को मिलता है मान-सम्मान, कुंभ राशि के लोग पसंद करते हैं स्वतंत्रता

जीवन मंत्र डेस्क। सोमवार, 3 जून को शनि जयंती है। ज्योतिष में सूर्य पुत्र शनि को न्यायाधीश माना गया है, इनकी माता का छाया है। ये ग्रह मकर और कुंभ राशि का स्वामी है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार शनिदेव का सीधा असर मकर और कुंभ राशियों पर बना रहता है। यहां जानिए शनि की वजह से इन राशियों के लोगों का स्वभाव और जीवन कैसा हो सकता है...

1) मकर राशि (नाम अक्षर - भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)

मकर दसवीं राशि है। इस राशि के लोग अति महत्वाकांक्षी होते हैं। ये मान-सम्मान और सफलता प्राप्त करने के लिए लगातार काम करते रहते हैं। ये लोग विलासिता की चीजें ज्यादा पसंद करते हैं, लेकिन इन्हें अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए बहुत कठिन परिश्रम करना पड़ता है। इन्हें यात्रा करना पसंद होता है। गंभीर स्वभाव के कारण आसानी से किसी को मित्र नहीं बनाते हैं। सामान्यत: ये लोग कम बोलने वाले होते हैं। जहां जरूरत होती है, वहीं बोलते हैं। ईश्वर और भाग्य पर विश्वास करते हैं। ये लोग देखने में भले ही सुस्त दिखे, लेकिन बहुत चुस्त होते हैं।

ये राशि चक्र की ग्यारहवीं राशि है। ये लोग गंभीरता पसंद करने वाले होते हैं और गंभीरता से ही काम करते हैं। कुंभ राशि वाले लोग बुद्धिमान होने के साथ-साथ व्यवहारकुशल होते हैं। आजादी से जीना पसंद करते हैं। अपने काम में किसी का दखल पसंद नहीं करते हैं। इस राशि के लोग किसी से भी जल्दी दोस्ती कर सकते हैं। ये लोग सामाजिक कार्यक्रमों में रुचि रखने वाले होते हैं। इन्हें साहित्य, कला, संगीत और दान-पुण्य करना पसंद होता है। कभी भी अपने मित्रों से असमानता का व्यवहार नहीं करते हैं। इनका व्यवहार सभी को आकर्षित कर लेता है।

4) कुंभ राशि (नाम अक्षर गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो)

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका कोई सपना साकार होने वाला है। इसलिए अपने कार्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित रखें। कहीं पूंजी निवेश करना फायदेमंद साबित होगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता संबंधी परीक्षा में उचित परिणाम ह...

और पढ़ें