--Advertisement--

घर के मंदिर में भगवान की मूर्तियों के आकार और संख्या से जुड़ी बातें, गणेशजी की 3 मूर्तियां मंदिर में नहीं रखनी चाहिए, घर के लिए शुभ नहीं होता है बड़ा शिवलिंग

किस देवी-देवता की कितनी मूर्तियां रख सकते हैं घर के मंदिर में?

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 04:53 PM IST
statue of god and goddess in home, old traditions about temple in home

रिलिजन डेस्क। पुराने समय से ही परंपरा चली आ रही है कि घर में छोटा मंदिर होता है और उस मंदिर देवी-देवताओं की प्रतिमाएं रखी जाती हैं। कुछ लोग एक ही देवता की कई मूर्तियां भी रखते हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार शास्त्रों में बताया गया है कि घर के मंदिर में किस देवता की कितनी मूर्तियां रखना श्रेष्ठ है...

भगवान के दर्शन मात्र से ही कई जन्मों के पापों का प्रभाव नष्ट हो जाता है। इसी वजह से घर में भी देवी-देवताओं की मूर्तियां रखने की परंपरा है। घर में स्थित मंदिर में कौन से देवी-देवता की कितनी मूर्तियां रखनी चाहिए...

श्रीगणेश की मूर्ति

प्रथम पूज्य श्रीगणेश के स्मरण मात्र लेने से ही कार्य सिद्ध हो जाते हैं। घर में इनकी मूर्ति रखना बहुत शुभ माना जाता है। वैसे तो अधिकांश घरों में गणेशजी की कई मूर्तियां होती हैं, लेकिन ध्यान रखें कि गजानंद की मूर्तियों की संख्या 3 नहीं होना चाहिए। यह अशुभ माना जाता है। गणेशजी की 3 से कम या ज्यादा मूर्तियां घर में रखी जा सकती हैं।

शिवलिंग की संख्या और आकार

ऐसा माना जाता है कि शिवलिंग के दर्शन मात्र से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। घर में शिवलिंग रखने के संबंध में कुछ नियम बताए गए हैं। घर के मंदिर में रखे गए शिवलिंग का आकार हमारे अंगूठे से बड़ा नहीं होना चाहिए। शिव पुराण के अनुसार शिवलिंग बहुत संवेदनशील होता है, अत: घर में ज्यादा बड़ा शिवलिंग नहीं रखना चाहिए। इसके साथ ही घर के मंदिर में एक शिवलिंग ही रखा जाए तो वह ज्यादा बेहतर फल देता है। एक से अधिक शिवलिंग रखने से बचना चाहिए।

मां दुर्गा और अन्य देवियों की मूर्तियों की संख्या

घर के मंदिर मां दुर्गा या अन्य किसी देवी की मूर्तियों की संख्या तीन नहीं होना चाहिए। यह अशुभ माना जाता है। यदि आप चाहें तो तीन से कम या ज्यादा मूर्तियां घर के मंदिर में रख सकते हैं। मूर्तियों के संबंध में श्रेष्ठ बात यही है कि मंदिर में किसी भी देवता की एक से अधिक मूर्तियां न हो। अलग-अलग देवी-देवताओं की एक-एक मूर्तियां रखी जा सकती है।

हनुमानजी की मूर्तियां

घर के मंदिर में हनुमानजी की मूर्तियों की संख्या एक ही होनी चाहिए। मंदिर में बैठे हुए हनुमानजी की प्रतिमा रखना श्रेष्ठ होता है। घर के अन्य भाग में हनुमानजी ऐसी प्रतिमा रखी जा सकती है, जिसमें वे खड़े हुए हों। घर के दरवाजे के पास उड़ते हुए हनुमानजी की प्रतिमा रखी जा सकती है।

X
statue of god and goddess in home, old traditions about temple in home
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..