--Advertisement--

विष्णु पुराण : मेहमान से उसकी गौत्र या जाति नहीं पूछनी चाहिए, इससे उसे परेशानी हो सकती है और ऐसी ही 3 बातें ध्यान रखनी चाहिए

जब भी कोई अतिथि घर आए तो उससे नहीं पूछना चाहिए उसकी कमाई

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 06:09 PM IST
vishnu puran and facts in hindi, life management tips in hindi, vishnu puran tips

रिलिजन डेस्क। मान्यता है कि घर आया मेहमान भगवान के समान होता है। इसीलिए कहा जाता है कि अतिथि देवो भव: यानी अतिथि भगवान के समान है। अतिथि का आदर-सत्कार करना शिष्टाचार भी है और ग्रंथों के अनुसार इससे पुण्य भी बढ़ते हैं। हमारे घर जब भी कोई मेहमान आए तो हमें कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। गीताप्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित विष्णु पुराण में बताया गया है कि हमें मेहमानों से कौन-कौन बातें नहीं पूछनी चाहिए। यहां जानिए ये बातें कौन-कौन सी हैं...

पहली बात

जब भी कोई अतिथि घर आए तो उससे उसकी शिक्षा के विषय में बात नहीं करनी चाहिए। अगर कोई व्यक्ति कम पढ़ा-लिखा है तो उसे ये बताने में असुविधा हो सकती है।

दूसरी बात

मेहमान से उसकी गौत्र या जाति के विषय में नहीं पूछना चाहिए। इस बात से व्यक्ति असहज हो सकता है, उसे जाति बताने में परेशानी हो सकती है।

तीसरी बात

घर आए अतिथि से उसकी कमाई की बात भी नहीं पूछनी चाहिए। यदि उसकी कमाई हमारी तुलना में कम होगी तो वह शर्मिदा हो सकता है।

विष्णु पुराण का संक्षिप्त परिचय

विष्णु पुराण अट्ठारह पुराणों में से एक है। इस पुराण में भगवान विष्णु की महिमा बताई गई है। साथ ही, इसमें हमें सुखी जीवन के लिए सूत्र भी मिलते हैं। जिनका ध्यान रखने पर हम परेशानियों से और पाप कर्मों से बच सकते हैं। इस पुराण में आकाश, समुद्र, सूर्य, पर्वत, देवता आदि की उत्पत्ति, मन्वन्तर, कल्प, धर्म और देवर्षि आदि के बारे में विस्तार से बताया गया है। विष्णु पुराण में मुख्य रूप से श्रीकृष्ण के चरित्र का भी वर्णन किया है। साथ ही, श्रीराम कथा का उल्लेख इसमें मिलता है।

X
vishnu puran and facts in hindi, life management tips in hindi, vishnu puran tips
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..