हस्तरेखा : जिनके हाथ में बनता है आधा चांद, वे हर परिस्थियों में रहते हैं सकारात्मक / हस्तरेखा : जिनके हाथ में बनता है आधा चांद, वे हर परिस्थियों में रहते हैं सकारात्मक

ज्योतिष शास्त्र में हस्तरेखा को प्रमाणिक विद्याओं में से एक माना जाता है।

Dainikbhaskar.com

Aug 10, 2018, 12:37 PM IST
palm reading about half moon in palm

धर्म डेस्क. ज्योतिष शास्त्र में हस्तरेखा को प्रमाणिक विद्याओं में से एक माना जाता है। इसमें हथेलियों की बनावट, रेखाओं और चिह्नों के आधार पर भविष्य व स्वभाव के बारे में पता लगाया जा सकता है। हथेली में रेखाओं के कई शुभ-अशुभ चिह्न बनते हैं। ऐसा ही एक शुभ चिह्न है आधा चांद। उज्जैन की हस्तरेखा विशेषज्ञ डॉ. विनिता नागर के अनुसार जानिए इस शुभ चिह्न से जुड़ी खास बातें...
कैसे बनता है आधा चांद
हथेली में सबसे छोटी उंगली के नीचे हृदय रेखा होती है। ये रेखा दोनों हाथों में होती है और जब दोनों हाथों को जोड़ा जाता तो हृदय रेखाओं के मिलने से आधा चांद बनता है। ये शुभ चिह्न कुछ लोगों के हाथों में ही बनता है।
अगर बन रहा है आधा चांद
- जिन लोगों की हथेलियों को जोड़ने पर आधा चंद्रमा बना हुआ दिखाई देता है, वे लोग काफी आकर्षक स्‍वभाव वाले होते हैं।
- ऐसे लोग जीवन साथी के प्रति काफी भावुक रहते हैं और उसे सभी सुख देने की कोशिश करते हैं।
- ये लोग अपनी भावनाओं को छिपाने की कोशिश करते हैं। इनका दिमाग काफी तेज चलता है और कोई भी बात बहुत जल्दी समझ लेते हैं।
- इस शुभ चिह्न के असर से ये लोग विपरीत परिस्थितियों में भी सकारात्मक बने रहते हैं।
अगर हृदय रेखाएं मिलाने पर सीधी रेखा बने तो
- अगर दोनों हथेलियों को जोड़ने पर सीधी रेखा बनती है तो व्यक्ति काफी शांत और दयालु होता है।
- इन्हें हर काम आराम से करना अच्‍छा लगता है। ऐसे लोग बहुत कम ही होते हैं जिनके हाथों में सीधी रेखा बनती है।
अगर आधा चांद न बने या हृदय रेखाएं न मिले तो
- हथेलियों को जोड़ने पर आधा चांद नहीं बन रहा है या ये रेखाएं जुड़ती हुई नहीं दिख रही हैं तो व्यक्ति थोड़ा लापवाह होता है।
- दोनों हाथों को मिलाने पर हृदय रेखा टेढ़ी-मेढ़ी नजर आती है तो व्यक्ति को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोग उसके बारे में क्या सोचते हैं।

X
palm reading about half moon in palm
COMMENT