त्योहारों का देश है भारत, यहां हर उत्सव में छिपे होते हैं लाइफ मैनेजमेंट के खास सूत्र, होली भी है इनमें से एक

जीवन में संतुलन बनाए रखना और हमेशा नई सोच रखना सीखाती है होली  

Dainik Bhaskar

Mar 19, 2019, 08:00 PM IST
Holi 2019, Holly's Life Management, Learn From Holi, Holi Fact Related

रिलिजन डेस्क। दुनिया भर में भारत को उसकी संस्कृति व विविधिताओं के लिए जाना जाता है। यहां का हर दिन एक त्योहार है। इसलिए भारत को त्योहारों का देश भी कहा जाता है। यहां का हर त्योहार मानव सभ्यता को कुछ न कुछ संदेश देता है। होली (21 मार्च) भी इन्हीं त्योहारों में से एक है। जानिए, होली में छिपे लाइफ मैनेजमेंट के सूत्रों के बारे में-

बना रहे संतुलन
ये तो सब जानते हैं कि होली रंगों से खेली और मनाई जाती है, लेकिन रंगों से ही क्यों? इसका कारण है कि पृथ्वी पर सारा जीवन सूर्य पर निर्भर है। सूर्य अपनी रोशनी व ऊर्जा को सात रंगों में पृथ्वी पर न्यौछावर करता है। यदि सात में से एक भी रंग घट या बढ़ जाए तो पृथ्वी की सारी व्यवस्था ही बिगड़ जाए। रंगों का निश्चित संतुलन हमें जीवन के हर क्षेत्र में संतुलन बनाने की अनमोल प्रेरणा देता है।

हमेशा नया सोचें
होली का पर्व वसंत ऋतु के आगमन की सुखद सूचना है। वसंत ऋतु नव सृजन अथवा नव निर्माण की ऋतु है। प्रकृति नव सृजन के लिए, परिवर्तन के लिए वसंत ऋतु में एक बेशकीमती मौका हमें देती है। यदि हम जागृत हैं, सजग हैं, तो इसका लाभ उठा सकते हैं।

समानता का भाव
जाति, धर्म, रंग-रूप, धन, यश आदि कितनी ही दीवारें इंसान को इंसान से बांटती हैं। इन दीवारों को तोड़कर एक रंग, एक मंच, एक उमंग, एक उत्साह में सराबोर होकर समत्व को अपनाना होली का अनमोल संदेश है।

X
Holi 2019, Holly's Life Management, Learn From Holi, Holi Fact Related
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना