महाभारत / दुर्योधन ने श्रीकृष्ण से कहा कि मैंने आपकी नारायणी सेना चुनकर गलती की, मुझे आपको चुनना था, इस वजह से मैं युद्ध हार गया



life management tips according to mahabharat
X
life management tips according to mahabharat

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2019, 03:50 PM IST

रिलिजन डेस्क. महाभारत में दुर्योधन ने बहुत सी गलतियां की थी, जिनकी वजह से युद्ध हुआ और इस युद्ध में पूरा कौरव वंश समाप्त हो गया। एक प्रचलित कथा के अनुसार जब युद्ध समाप्त हुआ और दुर्योधन को भीम ने पराजित कर दिया तो वह जमीन पड़े-पड़े तीन उंगलियां दिखाकर कुछ बोलने की कोशिश कर रहा था। दुर्योधन बहुत घायल हो गया था, इसकारण वह कुछ बोल नहीं पा रहा था, यह देखकर श्रीकृष्ण उसके पास गए और उससे बात की। तब दुर्योधन ने कहा कि उसने तीन बड़ी गलतियां की, जिनकी वजह से वह ये युद्ध हार गया।


पहला गलती
दुर्योधन ने श्रीकृष्ण से कहा कि मैंने पहली गलती ये की थी कि स्वयं नारायण यानी आपको नहीं, बल्कि आपकी नारायणी सेना को चुना।


दूसरी गलती
दुर्योधन ने दूसरी गलती बताई कि जब उसे माता गांधारी ने नग्न अवस्था में बुलाया था तो वह कमर के नीचे पत्ते लपेटकर चले गया। यदि नग्न अवस्था में जाता तो पूरा शरीर वज्र के समान हो जाता और उसे कोई पराजित नहीं कर पाता।


तीसरी गलती
दुर्योधन के अनुसार उसने तीसरी गलती ये की थी कि वह युद्ध में सबसे अंत में आगे आया। यदि वह युद्ध की शुरुआत में ही आगे आ जाता तो कौरव वंश का नाश होने से बच सकता था।

 

भगवान कृष्ण ने बताई दुर्योधन को उसकी गलती

दुर्योधन की ये बातें सुनकर श्रीकृष्ण ने उससे कहा कि तुम्हारी हार की सबसे बड़ी वजह है तुम्हारा अधर्मी आचरण। तुमने भरी सभा में अपनी कुलवधु के वस्त्रों हरण किया। तुमने जीवन में कई ऐसे अधर्म किए हैं जो तुम्हारी पराजय का मुख्य कारण बने हैं।

COMMENT