--Advertisement--

प्रेरक / क्रोध करने वाला गुस्से की आग में दूसरों के साथ खुद को भी जलाता हैं



life management tips by interesting stroy
X
life management tips by interesting stroy

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 01:20 PM IST

रिलिजन डेस्क. बुद्ध भगवान एक गांव में उपदेश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि गुस्सा ऐसी आग है जिसमें क्रोध करने वाला दूसरों को जलाएगा व खुद भी जल जाएगा। वहां स्वभाव से ही बहुत गुस्से वाला एक व्यक्ति बैठा हुआ था। उसे ये बातें बेतुकी लग रही थीं। वह अचानक ही बोलने लगा, तुम पाखंडी हो। बड़ी बातें करना ही तुम्हारा काम है। तुम लोगों को भ्रमित कर रहे हो, तुम्हारी बातें आज के समय में कोई मायने नहीं रखतीं।

 

बीते कल के कारण आज मत बिगाड़ो 


- उस व्यक्ति के कटु वचनों को सुनकर भी बुद्ध शांत रहे। यह देखकर वह व्यक्ति और भी क्रोधित हो गया और बुद्ध के मुंह पर थूककर वहां से चला गया। 


- अगले दिन उस व्यक्ति को अपने व्यवहार पर पछतावा हुआ। वह बुद्ध के पास पहुंचा और चरणो में गिरकर बोला, क्षमा कीजिए प्रभु। 


- बुद्ध ने पूछा, क्यों क्षमा मांग रहे हो। उसने कहा, क्या आप भूल गए। मैंने कल आपके साथ बुरा व्यवहार किया था। 


- बुद्ध ने प्रेमपूर्वक कहा बीता हुआ कल तो मैं वहीं छोड़कर आया गया और तुम वहीं अटके हुए हो। तुम्हें गलती का आभास हो गया, तुमने पश्चाताप कर लिया तुम निर्मल हो चुके हो। 


- बुरी बातें याद करते रहने से वर्तमान और भविष्य दोनों बिगड़ते जाते हैं। बीते हुए कल के कारण आज को मत बिगाड़ो। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..