पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Solar Eclipse 2019, Dutt Jayanti 2019, Dutt Purnima 2019, Geeta Jayanti Will Be Celebrated In December 2019

दिसंबर में सूर्य ग्रहण होगा, इस माह में मनाई जाएगी गीता जयंती और दत्त पूर्णिमा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2019 के अंतिम माह में आएंगी कई विशेष तिथियां, किस दिन कौन से शुभ काम कर सकते हैं
  • रविवार, 1 दिसंबर को श्रीराम और सीता का विवाह उत्सव है। इसे विवाह पंचमी भी कहते हैं। इस दिन श्रीराम और सीता की पूजा करनी चाहिए। सुंदरकांड और हनुमान चालीसा का पाठ भी कर सकते हैं।
  • रविवार, 8 दिसंबर को अगहन मास की एकादशी है। इसे मोक्षदा एकादशी कहते हैं। इस दिन गीता जयंती मनाई जाती है। मान्यता है कि इसी तिथि पर भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था। इस तिथि पर गीता का पाठ करना चाहिए और श्रीकृष्ण का पूजन करें।
  • बुधवार, 11 दिसंबर को अगहन मास की पूर्णिमा है, इसे दत्त पूर्णिमा कहते हैं। इस दिन भगवान दत्तात्रेय की पूजा करनी चाहिए।
  • गुरुवार, 12 दिसंबर को स्नान दान की पूर्णिमा है और अगहन मास का अंतिम दिन है। इस तिथि पर पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए और दान करना चाहिए।
  • शुक्रवार, 13 दिसंबर से पौष मास की शुरुआत होगी।
  • रविवार, 15 दिसंबर को गणेश चतुर्थी व्रत रहेगा। इस दिन गणेशजी के लिए व्रत उपवास करना चाहिए।
  • सोमवार, 16 दिसंबर को सूर्य धनु राशि में प्रवेश करेगा और खरमास शुरू हो जाएगा।
  • रविवार, 22 दिसंबर को सफला एकादशी रहेगी। इस तिथि पर भगवान विष्णु और उनके अवतारों के लिए विशेष पूजा-अर्चना की जाती है।
  • बुधवार, 25 दिसंबर को पौष मास की अमावस्या रहेगी। इस दिन पितर देवताओं के तर्पण और श्राद्ध कर्म किया जाता है। अमावस्या पर नदियों में स्नान करने और दान-पुण्य की परंपरा है।
  • गुरुवार, 26 दिसंबर को सूर्य ग्रहण होगा। ये ग्रहण भारत में भी दिखाई देगा। इस दिन सूतक के समय पूजा-पाठ नहीं करना चाहिए।
  • रविवार, 29 दिसंबर को विनायकी चतुर्थी रहेगी। इस तिथि पर गणेशजी के लिए पूजा करनी चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें