• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • chaitra navratri 2020, goddess durga mantra, mantra chanting vidhi, mantra jaap vidhi, navratri puja, durga puja vidhi

पूजा-पाठ / चैत्र नवरात्रि में दीपक जलाकर देवी मां के सामने करें मंत्रों का जाप, अधार्मिक कामों से बचें

chaitra navratri 2020, goddess durga mantra, mantra chanting vidhi, mantra jaap vidhi, navratri puja, durga puja vidhi
X
chaitra navratri 2020, goddess durga mantra, mantra chanting vidhi, mantra jaap vidhi, navratri puja, durga puja vidhi

25 मार्च से 2 अप्रैल तक चैत्र मास की नवरात्रि, इन दिनों में दुर्गा के मंत्रों का जाप कर सकते हैं

दैनिक भास्कर

Mar 23, 2020, 01:27 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क. बुधवार, 25 मार्च से चैत्र मास की नवरात्रि शुरू हो रही है। दुर्गा पूजा के ये पर्व नौ दिवसीय है और गुरुवार, 2 अप्रैल तक चलेगा। नवरात्रि में की गई देवी पूजा से बड़ी-बड़ी परेशानियां भी दूर हो सकती हैं। इन दिनों में दुर्गा सप्तशती का और देवी के अन्य मंत्रों का जाप करने का विशेष महत्व है। ये मंत्र बहुत जल्दी सकारात्मक असर दिखाते हैं। इस संबंध में ध्यान रखें कि मंत्र जाप में कोई गलती नहीं होनी चाहिए। मंत्र का उच्चारण सही होना चाहिए। साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। अधार्मिक कामों से बचें। जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार इन मंत्रों का जाप किसी ब्राह्मण की मदद से भी करवा सकते हैं। जानिए देवी मां के कुछ खास मंत्र और जाप की सरल विधि...

ये है मंत्र जाप की सरल विधि

नवरात्रि में रोज सुबह जल्दी उठें। स्नान आदि कर्मों के बाद घर के मंदिर में गणेशजी की और फिर माता दुर्गा की पूजा करें। पूजा में देवी मां को स्नान कराएं, वस्त्र अर्पित करें। फूल चढ़ाएं। धूप-दीप जलाकर आरती करें। इसके बाद आसन पर बैठकर मंत्रों का जाप करें। मंत्र जाप के लिए लाल चंदन के मोतियों की या रुद्राक्ष की या स्फटिक की माला का उपयोग कर सकते हैं। मंत्र जाप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए।

मंत्र 1- ऊं ह्रीं दुं दुर्गायै नम:

इस मंत्र का जाप करने से सभी बाधाओं से मुक्ति मिल सकती है।

मंत्र 2- सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सवार्थ साधिके, शरंयेत्र्यंबके गौरी नारायणी नमोस्तुते।

इस मंत्र करने से देवी मां अपने भक्तों का कल्याण करती हैं। 

मंत्र 3- ऊँ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।

इस मंत्र के जाप से बड़ी-बड़ी समस्याएं भी खत्म हो सकती हैं।

मंत्र 4- ऊँ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै।

इस मंत्र का जाप मां चामुंडा की कृपा पाने के लिए किया जाता है।

ये सावधानियां ध्यान रखें

इन मंत्रों का सही उच्चारण के साथ ही जाप करें। मंत्र जाप के उच्चारण में गलती होने पर जाप का फल नहीं मिलता है, उल्टा असर भी हो सकता है। जो लोग मंत्रों का उच्चारण ठीक से नहीं कर पाते हैं, वे किसी योग्य ब्राह्मण की मदद लें। गलत कामों से बचें। मंत्र जाप करने वाले व्यक्ति को पूरी तरह धर्म के अनुसार काम करना चाहिए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना