• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Motivational Story, Inspirational Story, Prerak Prasang, We Should Remember These Tips For Happy Life

अगर कोई हमारी बुराई करता है तो परेशान नहीं होना चाहिए, अपना काम ईमानदारी से करते रहें

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिष्य के सामने गांव में हो रही थी उसके गुरु की बुराई, क्रोधित शिष्य तुरंत अपने गुरु के पास पहुंचा और पूरी बात बताई
  • लगातार संत के भक्तों की संख्या बढ़ रही थी, ये देखकर उसी गांव का एक अन्य ब्राह्मण परेशान हो गया। उसे लगने लगा कि इस संत की वजह से मेरे भक्त कम हो जाएंगे। मेरा जीवन यापन कैसे होगा? ब्राह्मण संत के बारे में बुरी बातें प्रचारित करने लगा। वह लोगों के सामने उस संत की बुराई करता। एक दिन संत के शिष्य को ये सारी बातें मालूम हुईं तो उसे बहुत गुस्सा आया।
  • क्रोधित शिष्य तुरंत ही अपने गुरु के पास पहुंचा और पूरी बात बताई। संत ने शिष्य की बातें सुनी और कहा कि उस ब्राह्मण को उसके हाल पर छोड़ दो। अगर हम भी उस ब्राह्मण से वाद-विवाद करेंगे तो इससे ये सब बातें फैलना बंद नहीं होंगी। इसीलिए उसकी बातें पर ध्यान नहीं देना चाहिए।
  • संत ने देखा कि इतना समझाने के बाद भी शिष्य का क्रोध शांत नहीं हुआ है। तब उन्होंने कहा कि जब जंगल का हाथी किसी गांव में आता है तो उसे देखकर सभी कुत्ते भौंकने लगते हैं, लेकिन हाथी पर इसका कोई असर नहीं होता। हाथी अपनी मस्त चाल चलते रहता है। कुत्ते भौंकते हुए थक जाते हैं और वापस अपने इलाके की ओर भाग जाते हैं। हमें भी अपनी बुराई करने वालों के साथ इसी तरह पेश आना चाहिए। हमें सिर्फ अपना काम ईमानदारी से करना चाहिए और सत्य के मार्ग पर आगे बढ़ते रहना चाहिए। अच्छे काम ही दूसरों का मुंह बंद कर सकते हैं।