--Advertisement--

पूजा सामग्री / करवा चौथ पर पूजा की थाली में जरूर होनी चाहिए ये खास चीजें



Karwa Chauth Puja Samagri, Karwa Chauth Thali,Karva Chauth Puja Samagri
X
Karwa Chauth Puja Samagri, Karwa Chauth Thali,Karva Chauth Puja Samagri

Dainik Bhaskar

Oct 27, 2018, 11:19 AM IST

27 अक्टूबर को करवा चौथ है। कपड़ों से लेकर मेहंदी के डिज़ाइन तक हर तरह से इसकी तैयारियां चल रही हैं, लेकिन इस पर्व पर सबसे ज्यादा महत्व पूजा सामग्री यानि पूजा की थाली का है। इस व्रत में करवा माता, श्री गणेश और शिव-पार्वती की पूजा का विधान है। अलग-अलग क्षेत्रों में वहां की मान्यता और परंपरा के अनुसार ही पूजा होती है। कहीं करवा माता की ही पूजा होती है, तो कहीं शिव-पार्वती की तो कई जगहों पर इस दिन गणेशजी की पूजा का विधान है, लेकिन पूजा किसी की भी हो। पूरे विधि-विधान से हाेनी चाहिए। इसके लिए हम आपको बता रहे हैं कि पूजा की थाली में कौन-सी जरुरी चीजें होनी चाहिए।

 

  • करवा चौथ पर होने वाली कथा और भगवान की पूजा के लिए सामग्री

 

करवा चौथ पर चंद्रमा को अर्घ्य देने से पहले भगवान गणेश, शिव-पार्वती और करवा माता की पूजा की जाती है। उसके बाद करवा चौथ व्रत की कथा या कहानी सुनी जाती है। मान्यताओं और परंपरा के अनुसार ये पूजा कहीं दिन में और कहीं शाम को चंद्रमा की पूजा से पहले होती है। इस दौरान पूजा की सामग्री में ये चीजें जरूर मानी गई हैं।

  • करवा माता की पूजा के लिए उनकी तस्वीर होनी चाहिए।
  • पूजा के लिए रुई और घी का दीपक लगाना चाहिए।
  • इसके साथ ही अबीर, गुलाल, कुमकुम, हल्दी, मेहंदी, कलावा, जनेउ जोड़ा (गणेशजी और शिव जी के लिए), फूल, अक्षत (चावल), चंदन, इत्र, अगरबत्ती और नारियल होना चाहिए।
  • माता जी को नैवेद्य लगाने के लिए मिठाई भी रखें।
  • खील से भरे करवे रखे जाते हैं।
  • मीठी मट्ठी का भी महत्व बताया गया है।
  • सुहाग से जुड़ी चीज़ें जैसे-बिंदी, सिंदूर, चूड़ियां होती हैं।  
  • सास या घर में मौजूद कोई बुजुर्ग महिला हो तो उनके लिए कपड़े भी रखे जाते हैं।

करवा माता की पूजा और कथा पढ़ने के बाद ये सारी सामग्री अपनी सास या घर की बुजुर्ग विवाहित महिला को दी जाती है।

  • करवा चौथ पर चंद्रमा के दर्शन करने के बाद पूजा और अर्घ्य के समय आपकी थाली में ये खास चीजें होनी चाहिए।
  • अबीर, गुलाल, कुमकुम, हल्दी, मेहंदी, कलावा, 
  • जनेउ जोड़ा , फूल, अक्षत (चावल), चंदन और अगरबत्ती
  • घी का दीपक।
  • चंद्र दर्शन के लिए छलनी।
  • चंद्रमा को अर्घ्य देने के लिए करवे में जल।
  • व्रत खोलने के लिए पानी और मिठाई।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..