प्रदोष व्रत / मंगलवार और प्रदोष का शुभ योग, इस दिन व्रत और पूजा करने से प्रसन्न होते हैं भगवान शिव



pradosh fast poojan and vrat vidhi
X
pradosh fast poojan and vrat vidhi

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2019, 03:40 PM IST

रिलिजन डेस्क. आज (2 अप्रैल, मंगलवार) चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि है। इस दिन भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत किया जाता है। इस बार ये व्रत मंगलवार को होने से मंगल प्रदोष का शुभ योग बन रहा है। मंगलवार को इस विधि से करें शिवजी की पूजा…


व्रत और पूजा की विधि

  • प्रदोष में बिना कुछ खाए व्रत रखने का विधान है। ऐसा करना संभव न हो तो एक समय फल खा सकते हैं। इस दिन सुबह स्नान करने के बाद भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। 
  • भगवान शिव-पार्वती और नंदी को पंचामृत व गंगाजल से स्नान कराकर बिल्व पत्र, गंध, चावल, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य (भोग), फल, पान, सुपारी, लौंग और इलायची चढ़ाएं। 
  • शाम के समय फिर से स्नान करके इसी तरह शिवजी की पूजा करें। भगवान शिव को घी और शक्कर मिले जौ के सत्तू का भोग लगाएं। आठ दीपक आठ दिशाओं में जलाएं। इसके बाद शिवजी की आरती करें। 
  • रात में जागरण करें और शिवजी के मंत्रों का जाप करें। इस तरह व्रत व पूजा करने से व्रती (व्रत करने वाला) की हर इच्छा पूरी हो सकती है।
     
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना