Virgo

कन्या राशि

 

1 से 10 अक्टूबर - द्वितीय चंद्रमा सूर्य, शुक्र एवं मंगल के गोचर के साथ शनि की दृष्टि है। पराक्रम श्रेष्ठ रहेगा एवं आर्थिक स्थिति कमजोर रह सकती है। कर्ज वाले परेशान हो सकते हैं। परिवार का सहयोग भी कम रहेगा। घमंड के कारण ज्यादा नुकसान हो सकता है। विचारों में स्थिरता नहीं रहेगी। 6-7 तारीख को आय में कमी आएगी एवं कार्य में विलंब होगा। इसके आगे समय अनुकूल रहेगा। 
11 से 20 अक्टूबर - शाम के बाद चंद्र की पूर्ण दृष्टि राशि पर रहेगी। आर्थिक सुधार होगा एवं काम में मन लगेगा। व्यापार मेे तरक्की होगी एवं संतान से सुख प्राप्त होगा। नौकरी में अधिकारी सहयोग प्रदान करेंगे एवं विरोधी भी नियंत्रण में रहेंगे। अटके कार्यों में गति आएगी। न्यायालयीन कार्यों में भी पक्ष मजबूत होगा। कमीशन का कार्य करने वालों को लाभ हो सकता है। 
21 से 31 अक्टूबर - शत्रु मंगल का गोचर राशि में है। शनि की मित्र दृष्टि होने से ज्यादा नुकसान नहीं होने देगा। कार्य में गति प्रदान करेगा एवं शनि की ढै़य्या होने के बावजूद स्थितियां पक्ष की बनाकर रखेगा। लक्ष्य की प्राप्ति होगी एवं नौकरी में बेहतर मौकों की प्राप्ति होगी। सजावटी सामान पर व्यय हो सकता है। आय अच्छी बनी रहेगी।
 
नौकरी - इस समय आपका काम बहुत अच्छा रहेगा। आप समय पर टारगेट पूरे करने में सक्षम होंगे लेकिन उसके मुकाबले आपकी आय थोड़ी कमजोर हो सकती है। 
व्यापार - व्यापार में बहुत दौड़धूप होगी लेकिन लाभ कम हो सकता है। कोई नया सौदा आपको परेशानी में डाल सकता है। महीने के अंत में आपके नुकसान की भरपाई हो सकती है। 
परिवार - परिवार के साथ उत्सवों में शामिल रहेंगे। किसी बात पर बहस हो सकती है। संतान से कुछ चिंताजनक स्थिति मिल सकती है। भाइयों से सहयोग मिलेगा। 
सेहत - सेहत का ध्यान रखें। पुराने रोगों से परेशानी हो सकती है। दवाइयों का नियमित सेवन करें। 
दाम्पत्य - दाम्पत्य अच्छा रहेगा। जीवनसाथी को कोई महंगा गिफ्ट दे सकते हैं। उपहार मिलेगा भी। प्रेमियों के लिए भी समय अच्छा गुजरेगा। विवाह की बात चल सकती है। 
सम्पत्ति - कानूनी मसलों में आपकी जीत हो सकती है। पुराने सम्पत्ति के मामलों में गति आ सकती है। लाभ की स्थितियां बनेंगी। 

 

उपाय - 
दक्षिणमुखी हनुमान मंदिर में सिंदूर और चमेली का तेल दान करें। 
गरीब या भिखारी को लोहे का एक बरतन दान करें।