--Advertisement--

कुंडली में अशुभ है सूर्य तो घोड़े को खिलाएं चारा, शनि को खुश करने के लिए भैंस या कुत्ते को खिलाएं रोटी



Danik Bhaskar | Sep 07, 2018, 11:56 AM IST

रिलिजन डेस्क. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों का शुभ-अशुभ होने से हर व्यक्ति का जीवन प्रभावित होता है। अगर कोई ग्रह शुभ स्थिति में हो तो जीवन में आसानी से सफलता मिलती है और व्यक्ति का जीवन सुखमय हो जाता है लेकिन वहीं जब कोई ग्रह लगातार अशुभ फल दे रहा हो तो जीवन में कई कठनाईयों का सामना करना पड़ता है। लेकिन कुछ आसान उपाय कर उसके कुप्रभाव को कम किया जा सकता है। ये उपाय पालतू जानवरों व पशु-पक्षियों से जुड़े भी हो सकते हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, जो ग्रह अशुभ प्रभाव दे रहा हो, यदि उसके प्रतिनिधि जीव-जंतु की सेवा की जाए तो उस ग्रह का अशुभ प्रभाव काफी हद तक कम हो सकता है। 
 

ये हैं वे विशेष उपाय

  1. सूर्य

    अगर कुंडली में सूर्य की स्थिति खराब हो और उसके कारण परेशानियां आ रही हो तो रोज घोड़े को चारा खिलाएं व छत पर चिड़ियों के लिए दाना-पानी रखें।
     

  2. चंद्रमा

    चंद्रमा अगर अशुभ प्रभाव दे रहा हो तो पानी में रहने वाले जीव-जंतु जैसे- मछली, कछुआ के लिए आटे की गोलियां बनाकर तालाब या नदी में डालना चाहिए।

  3. मंगल

    ये ग्रह अशुभ हो तो जीवन में समस्याएं बनी रहती हैं। इसके अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए भेड़ को चारा खिलाएं और बंदरों को भी कुछ खाने के लिए दें।
     

  4. बुध

    जन्म कुंडली में बुध अशुभ स्थान पर बैठा हो तो पक्षियों के लिए छत पर दाना-पानी डालें और घर पर तोता पालें। इससे आपकी परेशानियां कम हो सकती हैं।

  5. गुरु

    इस ग्रह के अशुभ प्रभाव के कारण विवाह होने में परेशानियां आती हैं। इसे अनुकूल करने के लिए गाय व हाथी को चारा खिलाएं और उनकी सेवा करें।
     

  6. शुक्र

    शुक्र ग्रह के कारण जीवन में परेशानियां आ रही हैं तो भेड़-बकरी और ऊंट को हरा चारा खिलाएं व कबूतरों के लिए छत पर दाना-पानी भी रखना चाहिए।

  7. शनि

    शनि ही मनुष्य को उसके अच्छे-बुरे कामों का फल प्रदान करता है। इसके अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए भैंस, काला कुत्ता व कौए को उनके योग्य भोजन दें।
     

  8. राहु-केतु

    इस ग्रहों के कारण आ रही परेशानियों से बचने के लिए कुत्ते को रोटी खिलाएं। चींटियों के लिए शक्कर मिला हुआ आटा डालें और चूहों के लिए अनाज डालें।