वास्तुशास्त्र / बागवानी लाता है घर में शांति और समृद्धि, इन बातों का रखना चाहिए ध्यान



gardening according to vastu shastra brings happiness
X
gardening according to vastu shastra brings happiness

Dainik Bhaskar

Apr 08, 2019, 04:58 PM IST

रिलिजन डेस्क. वास्तुशास्त्र में घर में पेड़ या पौधों को लगाने को लेकर कुछ नियम बताए गए हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार यदि पेड़-पौधे सही से नहीं लगाए गए होते हैं, तो गृहस्वामी सहित परिवार के अन्य सदस्यों को भी शारीरिक, आर्थिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। तो आइए जानते हैं कि वास्तु के नियमों को ताकि आपके घर में भी सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो सके....

  • वास्तुशास्त्र के प्रसिद्ध ग्रंथ ’वास्तुराजवल्लभ के अनुसार तुलसी, केला, चंपा केतकी, चमेली आदि शुभ पेड़-पौधे शुभ माने गए हैं।  केले के पेड़ को ईशान कोण में लगाने से से धन-धान्य में वृद्धि होती है।
  • मान्यता है कि केले के पेड़ के पास यदि तुलसी का पौधा लगाया जाए तो शुभ फल प्राप्त होते है और भगवान विष्णु के साथ-साथ देवी लक्ष्मी की भी कृपा बनी रहती है।
  • अशोक और नारियल पेड़ बहुत शुभ माने गए हैं। अपने नाम के अनुसार अशोक प्रसन्नता देने वाला और शोक को दूर करने वाला वृक्ष है। मान्यता है कि यह पेड़ घर के सदस्यों के बीच प्रेम और सौहार्द्र बढ़ाता है।
  • फेंगुशुई यानी चीनी वास्तुशास्त्र की प्रचलित मान्यता के अनुसार घर के आसपास बांस का पौधा या घर के अंदर उसका बोन्साई रुप लगाने से समृद्धि और तरक्की होती है। ऐसा माना जाता है कि इससे घर की नकारात्मक उर्जा भी समाप्त होती है।
  • प्राचीन भारतीय ग्रंथ बृहत्संहिता अनुसार, ऐसे पेड़-पौधे जिनकी पत्तियों और डालियों को तोड़ने पर दूध या सफ़ेद रस का स्राव होता है, वैसे पेड़-पौधों को घर के पास नहीं लगाना चाहिए। मान्यता है कि इससे धन की हानि होती है। 
  • भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार, कांटेदार पेड़-पौधे का घर के मुख्य-द्वार और घर के आसपास होना शुभ नहीं माना गया है। कहते हैं, इससे शत्रु भय बढ़ता है और जीवन में कुछ-न-कुछ कष्ट बना ही रहता है।
     
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना