वास्तु शास्त्र / ये है पंच तत्वों की ऊर्जा के प्रभाव को सकारात्मक बनाने का विज्ञान, चुंबकीय, तापीय और विद्युत ऊर्जा से है इसका संबंध



importance of vastu shastra in daily life
X
importance of vastu shastra in daily life

Dainik Bhaskar

Feb 23, 2019, 12:05 PM IST

रिलिजन डेस्क. हमारे आपपास कई तरह की ऊर्जा का प्रभाव रहता है जिनका असर हमारे जीवन पर भी पड़ता है। प्रकृति में संतुलन बनाए रखने के लिए जल, पृथ्वी, वायु, अग्नि और आकाश (पंच तत्व) के बीच परस्पर क्रिया होती है, जिसका  प्रभाव इस पृथ्वी पर रहने वाले हर जीव पर पड़ता है। इन पांच तत्वों के बीच होने वाली परस्पर क्रिया को वास्तु शास्त्र कहा गया है। वास्तु शास्त्र पांच तत्वों की क्रियाओं का विज्ञान है। दक्षिण भारत में वास्तु का जनक साधु मायन को माना जाता है और उत्तर भारत में विश्वकर्मा को जिम्मेदार माना जाता है।

COMMENT