--Advertisement--

​वास्तु शास्त्र : घर के पास जला या सूखा पेड़ होने से बढ़ती है नकारात्मक ऊर्जा, इन उपायों से दूर हो सकती है परेशानियां

जीवन में समस्याओं का आना-जाना लगा रहता है। इनमें से कुछ समस्याएं घर के वास्तु दोषों के कारण भी होती है।

Danik Bhaskar | Aug 16, 2018, 06:59 PM IST

धर्म डेस्क. जीवन में समस्याओं का आना-जाना लगा रहता है। इनमें से कुछ समस्याएं घर के वास्तु दोषों के कारण भी होती है। ज्योतिषाचार्य पं. राम कृष्ण शर्मा के अनुसार ये वास्तु दोष कई बार घर में लगे पेड़ पौधों के कारण भी हो सकते हैं। क्योंकि इनसे भी नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा निकलती है। आइए जाने कौन से पेड़ घर में नही लगाने चाहिए, और यदि आपके घर के पास इस तरह के पेड़ हैं तो इनके नकारात्मक प्रभावों से कैसे बचा जा सकता है।


- घर के आस-पास सूखा या आधा जला हुआ पेड़ भी वास्तु दोष के आधार पर अशुभ माना जाता है। इससे घर में नकारात्मकता हावी होती है, जिससे घर में कलह और आपसी विवाद होते रहते हैं।
- घर में रेशम, ताड़ और कपास का पेड़ लगाने से घर में कलह के कारण अशांति बनी रहती है।
- घर के सामने लगे इमली या मेहंदी का पेड़ वास्तु शास्त्र की द्रष्टी से अशुभ माना गया है इससे घर में बुरी शक्तियां हावी होने लगती हैं।
- घर के ईशान और पूर्व दिशा में अधिक ऊंचे पेड़ नहीं होने चाहिए। इसके साथ ही आंगन में भी ऐसे पेड़ न लगाएं। इस दिशा से ही घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है।
- घर में कांटेदार व दूध (जिनके कटने-छिलने पर सफेद द्रव्य निकलता हो) वाले पौधे नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि कांटे नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करते हैं।
उपाय
- अगर आपके घर के पास या आंगन में ये पेड़ हैं तो इन पेड़ों के पास तुलसी, अशोक, नीम, चंदन, विल्ब पत्र, पीपल या नागकेसर के पौधे लगाना चाहिए। इससे ग्रह दोष कम हो सकता है।