• Hindi News
  • Rsmssb patwari exam
  • The First Shift Exam Will Start Shortly From Now Onwards, After Checking With A Metal Detector, You Will Be Able To Travel For Free For 3 Days.

राजस्थान की दूसरी सबसे बड़ी परीक्षा:पहले चरण में गणित-रीजनिंग ने उलझाया लेकिन कट ऑफ ज्यादा जाने की संभावना, परीक्षा पूरी होते ही नेट चालू

जयपुर3 महीने पहले

राजस्थान में 5378 पदों के लिए पटवारी भर्ती परीक्षा का पहला चरण शनिवार को पूरा हो गया। पहले दिन दोनों पारियों में 22 जिलों में आयोजित हो रही भर्ती परीक्षा करीब 1170 से ज्यादा सेंटर पर आयोजित हुई। पहले चरण के लिए करीब साढ़े 6 लाख अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। रविवार को दूसरे चरण की परीक्षा होगी। इधर, परीक्षा पूरी होते ही नेट शुरू हो चुका है। रविवार को भी परीक्षा के दौरान नेट बंद रहेगा। वहीं राजधानी जयपुर में अभ्यर्थियों ने पहले चरण के पेपर को आसान बताया। उन्होंने कहा कि गणित और रीजनिंग के सवालों को छोड़कर सब कुछ सीधा-सीधा पूछा गया था। ऐसे में पटवारी भर्ती परीक्षा की कट ऑफ ज्यादा जाने की संभावना है।

बता दें की 2 दिन तक चलने वाली परीक्षा में कुल 15 लाख 62 हजार 995 अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं परीक्षा में धांधली रोकने के लिए जहां पुलिस-प्रशासन की टीमों ने प्रदेशभर में सतर्कता और निगरानी बढ़ा दी है। कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा भी लगातार नकल पर नकेल कसने के लिए रणनीति पर काम किया जा रहा है।

मेटल डिटेक्टर से हुई जांच
REET और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में हुई धांधली के बाद राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड पूरी तरह से सतर्क हो गया है। प्रदेशभर के 23 जिलों में परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों की मेटल डिटेक्टर से जांच के बाद ही उन्हें परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया। इसके साथ ही प्रदेश के संदिग्ध परीक्षा केंद्रों पर CCTV कैमरे भी लगाए गए हैं। संदिग्ध छात्रों की विशेष मॉनिटरिंग की व्यवस्था भी की गई है।

प्रशासनिक अधिकारियों के साथ फ्लाइंग स्क्वायड, ऑब्जर्वर, केंद्र अधीक्षक और आंतरिक सतर्कता दल के साथ विशेष निगरानी दल बनाया गया है। जो अलग-अलग परीक्षा केंद्रों पर औचक निरीक्षण कर रहे हैं। इसके साथ ही परीक्षा में किसी भी तरह की लापरवाही बरतने पर अभ्यर्थी के खिलाफ 1992 अधिनियम के अंतर्गत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जिसमें दोषी पाए जाने पर अभ्यर्थी को 7 साल जेल में बिताने पड़ सकते हैं।

23 जिलों में ही आयोजित होगी परीक्षा
प्रदेश के 33 में से सिर्फ 23 जिलों में ही परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। बाड़मेर, चूरु, धौलपुर, जैसलमेर, जालौर, झुंझुनू, करौली, पाली, प्रतापगढ़ और सीकर में परीक्षा का आयोजन नहीं होगा। 23 अक्टूबर को पंचायत चुनाव के मद्देनजर अलवर में भी परीक्षा नहीं हो रही है, यहां 24 अक्टूबर को परीक्षा होगी।

5 दिन रोडवेज बसों में कर सकेंगे फ्री में सफर
राजस्थान में होने जा रही पटवारी भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी प्रदेशभर में रोडवेज बसों में 5 दिन तक मुफ्त सफर कर सकेंगे। इसके तहत अभ्यर्थी भर्ती परीक्षा से 22 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक रोड़वेज बसों में फ्री में सफर कर सकेंगे।

राजस्थान रोडवेज से जारी आदेशों के मुताबिक परीक्षा शुरू होने से 2 दिन पहले और पेपर खत्म होने के एक दिन खत्म होने के अगले दिन तक परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स रोडवेज बसों में फ्री सफर कर सकते हैं। इस दौरान अभ्यर्थी गांव या शहर से परीक्षा केन्द्र तक जाने और वापस आने के लिए सीधी बस सेवा उपलब्ध नहीं होने पर एक से अधिक कनेक्टिंग बस का उपयोग कर सकेंगे।

फ्री सफर के लिए अभ्यर्थी को अपना प्रवेश पत्र और मूल दस्तावेज दिखने होंगे। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बताया कि आम छात्रों की सहूलियत के लिए रोडवेज बसों के साथ ही निजी बसों का भी इस्तेमाल किया जाएगा, ताकि अभ्यर्थी समय रहते परीक्षा केंद्र तक पहुंच सके।

प्रताप सिंह ने बताया कि इसके लिए रोडवेज अधिकारी, राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के साथ ही जिला स्तर पर अधिकारियों से चर्चा के बाद बसों की संख्या निर्धारित करेंगे, जिनमें प्रदेशभर के अभ्यर्थी फ्री में सफर कर सकेंगे।

5 लाख महिलाएं एक दिन पहले दे रहीं परीक्षा
पटवारी भर्ती परीक्षा में शामिल होने वाली महिला अभ्यर्थियों को बड़ी राहत मिली है। करवा चौथ को देखते हुए राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने 5 लाख से ज्यादा महिला अभ्यर्थियों को राहत देते हुए उन महिलाओं की परीक्षा 23 अक्टूबर को ही परीक्षा करवाने का फैसला लिया है, जिनकी परीक्षा 24 अक्टूबर को होनी थी।

इन 4 चरणों में होगी भर्ती परीक्षा
प्रदेश में चार चरणों में आयोजित पटवारी भर्ती परीक्षा में 15 लाख 62 हजार 995 अभ्यर्थी पंजीकृत है। जिसमें प्रत्येक चरण में करीब 4 लाख परीक्षार्थी परीक्षा में होंगे शामिल होंगे। इसमें पहले चरण में 1158 परीक्षा केंद्र पर 23 अक्टूबर को सुबह 3 लाख 86 हजार 514 अभ्यर्थी, जबकि 23 अक्टूबर को ही दूसरे चरण में 1170 परीक्षा केंद्र पर 3 लाख 91 हजार 214 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। इसी तरह 24 अक्टूबर को तीसरे चरण में 1177 परीक्षा केंद्र पर 3 लाख 94 हजार 714 अभ्यर्थी, वहीं चौथा चरण में 1169 परीक्षा केंद्र पर 3 लाख 90 हजार 558 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे।

चरणतारीखपरीक्षार्थीपरीक्षा केन्द्र
पहला23 अक्टूबर3865141158
दूसरा23 अक्टूबर3912141170
तीसरा24 अक्टूबर3947141177
चौथा24 अक्टूबर3905531169

जयपुर समेत 7 जिलों में बंद रहेगा नेट
पटवारी भर्ती परीक्षा में इंटरनेट बंद को लेकर निर्णय जिला स्तर पर लिया जा रहा है। इसके तहत पुलिस की अनुशंषा पर राजधानी जयपुर, भरतपुर, दौसा, बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और सवाईमधोपुर में पटवारी भर्ती परीक्षा के चलते शनिवार और रविवार को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक एक बार फिर नेटबंदी के आदेश जारी कर दिए है।

कुछ जिलों में अलसुबह नेटबंदी होने की संभावना बनी हुई है। बता दें की इंटरनेट बंद करने को लेकर जिला पुलिस अधीक्षक और कलेक्टर जरूरत पड़ने पर संभागीय आयुक्त को पत्र लिखते हैं या फिर संभागीय आयुक्त स्वविवेक से निर्णय ले सकते हैं।

विशेषज्ञों की राय के बाद जारी होगा कटऑफ
शर्मा ने कहा कि पटवारी भर्ती परीक्षा पूरी होने के बाद परिणाम आने पर हम उसके आधार पर निर्णय लेंगे। अगर चारों प्रश्नपत्र का एवरेज लगभग बराबर आ रहा है, तो फिर हम राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सॉफ्टवेयर के आधार पर कटऑफ निकालेंगे। इसके साथ ही हम विशेषज्ञों से भी इसका आकलन करवाएंगे। ऐसे में अगर जरूरत पड़ती है तो हम स्केलिंग फॉर्मूला भी अपनाएंगे। एक्सपर्ट कमेटी के सुझाव पर ही निर्णय लेंगे।