मैदान के हर कोने में शॉट लगाने की काबिलियत रखने वाले डिविलियर्स ने अचानक लिया संन्यास

14 साल पहले जिस मैदान पर बने थे दक्षिण अफ्रीकी टीम का हिस्सा, वहीं से किया संन्यास का एलान।

DainikBhaskar.com| Last Modified - May 24, 2018, 10:25 AM IST

1 of

  • दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान डिविलियर्स की गिनती मौजूदा समय के महान बल्लेबाजों में होती है
  • भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने ट्वीट कर एबी डिविलियर्स को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी हैं

 

खेल डेस्क.  दक्षिण अफ्रीका के 34 वर्षीय क्रिकेटर एबी डिविलियर्स ने बुधवार को ट्वीट कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का अचानक एेलान किया। डिविलियर्स ने टेस्ट, वनडे और टी-20 के 420 अंतरराष्ट्रीय मैचों में कुल 20,014 रन बनाए हैं। उनके इस फैसले से अफ्रीकी टीम की विश्वकप की संभावनाओं को झटका लगा है। उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी नहीं खेलने के संकेत दिए हैं। बता दें कि डिविलियर्स को मैदान के हर कोने में शॉट लगाने की उनकी काबिलियत के चलते मिस्टर 360 डिग्री भी कहा जाता है। अब्राहम बेंजामिन डिविलियर्स उम्दा क्षेत्ररक्षण के लिए भी जाने जाते हैं। आईपीएल के इस सीजन में एक मैच के दौरान उन्होंने बाउंड्री पर हवा में उड़ते हुए शानदार कैच पकड़ा था। उनके कैच पकड़ने का वीडियो भी सोशल मीडिया में खूब वायरल हुआ था। 

 

 

डिविलियर्स ने कहा- यह वक्त दूसरों को मौका देने का  

- डिविलियर्स ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 1 मिनट 35 सेकंड का एक वीडियो शेयर किया है। इसमें वे कह रहे हैं, "यह टक्स क्रिकेट क्लब है। यह वही मैदान है जहां 14 साल पहले मैं पहली बार दक्षिण अफ्रीकी टीम का हिस्सा बना था। मैं आप लोगों को बताना चाहता हूं कि मैंने तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का फैसला किया है।"

- उन्होंने कहा, "114 टेस्ट, 228 वनडे और 78 टी-20 मैच खेलने के बाद यह समय दूसरों को मौका देने का है। मैं खुद को अलग कर रहा हूं। ईमानदारी से कहूं तो मैं थक चुका हूं। यह कड़ा फैसला है। मैंने इसके लिए बहुत सोचा और तब इतना कठिन फैसला लिया। मैं अच्छा प्रदर्शन करते हुए क्रिकेट को अलविदा कहना चाहता था। भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद मैं सोचता हूं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से खुद को अलग करने का यह सही समय है।"

 

साथियों का हमेशा एहसानमंद रहूंगा: डिविलियर्स

- उन्होंने कहा, "मेरे लिए यह चुनना सही नहीं होगा कि दक्षिण अफ्रीका के लिए मैं कहां, कब और किस फॉर्मेट में खेलूं। मेरे लिए हरा और पीला (दक्षिण अफ्रीकी टीम की जर्सी के रंग) या तो सबकुछ अथवा कुछ नहीं है। इतने वर्षों तक अपना समर्थन देने के लिए मैं हमेशा अपने टीम के साथियों, कोचेस और क्रिकेट साउथ अफ्रीका के स्टाफ का एहसानमंद रहूंगा।"

 

विदेश में खेलने की कोई योजना नहीं 

- उन्होंने कहा, "मैंने यह फैसला किसी दूसरी जगह से कमाई करने के लिए नहीं किया है। यह क्रिकेट से बाहर निकलने और आगे बढ़ने के लिए है। एक न एक दिन सबकुछ खत्म हो जाता है। मेहरबानी और उदारता के लिए मैं दक्षिण अफ्रीका और दुनिया भर के क्रिकेट फैन्स को धन्यवाद देना चाहता हूं। मेरी विदेश में खेलने की कोई योजना नहीं है। मुझे उम्मीद है कि मैं घरेलू क्रिकेट में टाइटंस के लिए अपनी सेवाएं दे सकता हूं। मैं हमेशा फाफ डु प्लेसी और प्रोटियाज (दक्षिण अफ्रीका) बड़ा समर्थक रहूंगा। धन्यवाद।"

 

मैदान के बाहर भी आप 360 डिग्री सफलता हासिल करेंगेः सचिन

- डिविलियर्स के अचानक संन्यास की घोषणा करने से समूचा क्रिकेट जगत स्तब्ध रह गया। मार्क बाउचर, हर्षा भोगले, आकाश चोपड़ा, माइकल वॉन, एलन डोनाल्ड, महेला जयवर्धने, सैम बिलिंग्स, आईपीएल में उनकी टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु, इरफान पठान, हर्शल गिब्स, वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह, वीवीएस लक्ष्मण और रुद्र प्रताप सिंह समेत बहुत से क्रिकेटर जहां उनकी संन्यास की खबर से स्तब्ध रह गए। किसी ने लिखा शायद यह अफवाह हो। हालांकि सभी ने उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दीं। 

- सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट कर कहा, "जैसे आपने मैदान पर अपना खेल दिखाया, उम्मीद करता हूं मैदान के बाहर भी 360 डिग्री सफलता हासिल करेंगे। तुम्हारी कमी निश्चित रूप से खलेगी। 

 

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डिविलियर्स ने बनाए हैं 20,014 रन

फॉर्मेट मैच रन औसत उच्चतम 50s  100s
टेस्ट 114 8765 50.66 278 45 22
वनडे 228 9577 53.50 176 53 25
टी-20 78 1672 26.12 79 10 0

 

विश्वकप जीतने का सपना अधूरा ही रहा

- डिविलियर्स का विश्वकप चैम्पियन टीम का हिस्सा बनने का सपना अधूरा ही रह गया। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए 3 विश्वकप खेले, लेकिन कभी ट्रॉफी नहीं जीत पाए।

- डिविलियर्स की कप्तानी में एक बार दक्षिण अफ्रीकी टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी, लेकिन वहां उसे न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

- दक्षिण अफ्रीका की ओर से उन्होंने 4 बार चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट में भी खेला, लेकिन यहां भी चैम्पियन बनने का उनका सपना पूरा नहीं सका।

- डिविलियर्स को मिस्टर 360 डिग्री भी कहा जाता है। दरअसल, वे एेसे बल्लेबाज हैं, जो अपने बल्ले से गेंद को मैदान के किसी भी कोने में पहुंचा सकते हैं।

 

डिविलियर्स ने बनाए हैं वनडे में सबसे तेज 50, 100 और 150 रन

रन गेंद खिलाफ जगह साल
50 16 वेस्टइंडीज जोहानिसबर्ग 2015
100 31 वेस्टइंडीज जोहानिसबर्ग 2015
150 64 वेस्टइंडीज सिडनी क्रिकेट ग्राउंड 2015

 

आईसीसी के टूर्नामेंट में डिविलियर्स का प्रदर्शन

टूर्नामेंट मैच रन औसत उच्चतम 50s 100s कैच
विश्वकप 23 1207 60.35 162 6 4 12
चैम्पियंस ट्रॉफी 13 339 28.25 70 3 0 8
 

 

आईपीएल में बनाए हैं 3,953 रन

- एबी डिविलियर्स आईपीएल में भी खेलते हैं। वे 2008 से 2010 तक दिल्ली डेयरडेविल्स का हिस्सा रहे। उसके बाद से लगातार रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के लिए खेल रहे हैं। 

- उन्होंने 141 मैच की 129 पारियों में 29 बार नॉटआउट रहते हुए 39.53 की औसत से 3953 रन बनाए हैं। 3 शतक और 28 फिफ्टी भी लगाई हैं। सबसे ज्यादा रन बनाने वाले ओवरऑल टैली में वे 10वें नंबर पर हैं।
- इस सीजन की बात करें तो उन्होंने 12 मैच की 11 पारियों में 53.33 की औसत से 480 रन बनाए। वे सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची में 8वें नंबर पर हैं।

 

वर्ल्ड कप में देश के लिए बनाए सबसे ज्यादा रन

- वनडे में सबसे कम मैच में 9,000 रन बनाने में वे विराट कोहली के बाद दूसरे नंबर पर हैं। डिविलियर्स ने 214, जबकि कोहली ने 202 मैच में अपने-अपने 9,000 रन पूरे किए थे। 
- वनडे में 20 से ज्यादा पारियां खेलने वाले वे इकलौते बल्लेबाज हैं, जिनका औसत 50 और स्ट्राइक रेट 100 से ज्यादा का है। 
- डिविलियर्स ने वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। उन्होंने 22 पारियों में 63.52 की औसत और 117.29 के स्ट्राइक रेट से 1,207 रन बनाए हैं। वर्ल्ड कप में वे 4 बार शतक भी लगा चुके हैं। 
- वनडे में वे एक पारी में सबसे ज्यादा 16 छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों में रोहित शर्मा के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर हैं। उन्होंने 18 जनवरी, 2015 को वेस्टइंडीज के खिलाफ 44 गेंद में 149 रन बनाए थे। इस दौरान उन्होंने 16 छक्के और 9 चौके लगाए थे।
- डिविलियर्स टेस्ट में लगातार 78 और वनडे में 90 पारियों तक शून्य पर नहीं आउट हुए हैं।

 

खेल विरासत में मिला, रग्बी, टेनिस और गोल्फ के भी हैं शौकीन

- अब्राहम बेंजामिन डिविलियर्स को खेल विरासत में मिला है। उनके पिता डॉक्टर होने के साथ रग्बी के बढ़िया खिलाड़ी भी थे। पिता ने ही डिविलियर्स को खेल के लिए प्रेरित किया।

- डिविलियर्स को क्रिकेट के अलावा गोल्फ, रग्बी और टेनिस का भी बहुत शौक था। हालांकि क्रिकेट में बेहतर होने के कारण उन्होंने इसे अपना करियर बनाया। डिविलियर्स फुटबॉल खेलने के भी बहुत शौकीन हैं और उनकी मैनचेस्टर यूनाइटेड उनकी पसंदीदा टीम है। 

- यही नहीं वह एक अच्छे गायक भी हैं। 'माक जो ड्रोम वार' नाम से उनका एक म्यूजिक अलबम भी है। डिविलियर्स ने 2013 में डेनिले स्वार्ट से शादी की। अब्राहम नाम का उनका एक बेटा है, जिसका जन्म 2015 में हुआ था।

AB de Villiers announces his retirement from all forms of international cricket
AB de Villiers announces his retirement from all forms of international cricket
AB de Villiers announces his retirement from all forms of international cricket
AB de Villiers announces his retirement from all forms of international cricket
एबी डिविलियर्स के अचानक संन्यास लेने की घोषणा करने से क्रिकेट प्रशंसक शाक्ड हैं। - फाइल
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now