--Advertisement--

सेरेना का कार्टून बनाने वाले मार्क नाइट का 'हेराल्ड सन' ने बचाव किया, दोबारा कैरीकेचर छापा

ऑस्ट्रेलियन अखबार में छपे सेरेना के कार्टून पर विवाद, कार्टूनिस्ट पर लगा नस्लभेदी और लिंगभेदी होने का आरोप

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 12:08 PM IST

  • कार्टून बनाने को लेकर पहले भी विवादों में रहे चुके हैं ऑस्ट्रेलियाई कार्टूनिस्
  • यूएस ओपन फाइनल में जापान की ओसाका से हार गईं थीं सेरेना विलियम्स

सिडनी. ऑस्ट्रेलियाई अखबर 'हेराल्ड सन' ने दुनिया भर में हो रही आलोचना और नस्लभेदी और लिंगभेदी के आरोपों को नकार दिया है। उसने बुधवार को अपने मुख्य पृष्ठ पर दोबारा एक विवादास्पद कार्टून छापा। इसमें मार्क नाइट का वह कार्टून भी है, जिसे उन्होंने यूएस ओपन में सेरेना और चेयर अंपायर के बीच हुई बहस के मामले को लेकर बनाया था। अखबार में सोमवार को सेरेना का कार्टून छपने के बाद नाइट की काफी आलोचना हुई थी।

कैरीकेचर में सेरेना के अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन को लेकर पूर्व में प्रकाशित हो चुके कार्टून भी छपे हुए हैं। इसके जरिए अखबार ने फ्री-स्पीच को रोकने के प्रयास को दर्शाया है।

'हेराल्ड सन' के एडिटर भी नाइट के बचाव में उतरे ः अखबार ने मुख्य पृष्ठ पर छोटा संपादकीय भी लिखा। इसमें उसने कहा है, "यदि मार्क नाइट का स्व-विवेक सेरेना विलियम्स का कार्टून नहीं बनाते हैं, तो वास्तव में हमारी नई राजनीतिक जिंदगी बहुत सुस्त होगी।" 'हेराल्ड सन' के एडिटर डेमन जॉनटन ने भी खुद ट्वीट कर नाइट का बचाव किया। उन्होंने लिखा था कि नाइट के कार्टून को किसी भी प्रकार से लिंगभेदी या नस्लभेदी नहीं कहा जा सकता है। डेमन ने लिखा, "नाइट ने एक स्टार खिलाड़ी के खराब प्रदर्शन को सही तरीके से उकेरा है। कार्टून नस्लभेदी या लिंगभेदी नहीं है। उन्हें हम सब का समर्थन हासिल है।"

यूएस ओपन फाइनल में हुआ था विवाद ः सेरेना यूएस ओपन में महिला एकल के फाइनल में जापान की नाओमी ओसाका से हार गईं थीं। उन्होंने मैच में चेयर अंपायर पर महिला खिलाड़ियों से भेदभाव करने का आरोप लगाया था। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई कार्टूनिस्ट मार्क नाइट ने एक कार्टून बनाया। 'हेराल्ड सन' में छपे कार्टून में सेरेना को रैकेट तोड़ते और चेयर अंपायर को ओसाका से यह कहते दिखाया गया कि क्या वे सेरेना को जीतने दे सकती हैं?

22 हजार से ज्यादा लोगों ने किए ट्वीट ः इस कार्टून पर तीखी प्रतिक्रिया सामने आई। नाइट के ऊपर नस्लभेदी और लिंगभेदी होने के आरोप लगे। नाइट के कार्टून वाले ट्विटर पोस्ट पर 22 हजार से अधिक लोगों ने कमेंट किया। ज्यादातर ने उनकी आलोचना की। हैरी पॉटर सीरीज की लेखिका जेके रोलिंग ने लिखा, "आपने महानतम स्पोर्ट्स वुमन में से एक को नीचा दिखाया। एक और महान खिलाड़ी को गलत रूप में दर्शाया।" नाइट ने रिट्वीट किया, "मेरा इरादा खराब व्यवहार को दिखाने का था, न कि किसी महिला को नीचा दिखाने का।" कुछ लोगों ने कार्टून में ओसाका को सुनहरे बाल वाली श्वेत महिला के तौर पर दिखाने पर आपत्ति जताई है। ओसाका की मां जापानी और पिता हैती मूल के हैं।

नवरातिलोवा ने भेदभाव की बात स्वीकारी थी ः पूर्व दिग्गज और 18 ग्रैंड स्लैम विजेता मार्टिना नवरातिलोवा ने यूएस ओपन के फाइनल में सेरेना विलियम्स की हरकत को गलत बताया है। हालांकि वे इस बात से सहमत हैं कि टेनिस में पुरुष और महिला खिलाड़ियों में भेदभाव किया जाता है। न्यूयॉर्क टाइम्स में अपने लेख में नवरातिलोवा (61) ने कहा, हमें खुद का आकलन नहीं करना चाहिए कि क्या गलत करके हम बच सकते हैं। मेरी राय में अगर किसी पुरुष खिलाड़ी ने भी ऐसा किया होता तो वह गलत होता।

अंपायर ने सेरेना पर गेम पेनल्टी लगाई थी ः सेरेना को कोचिंग के कारण कोड उल्लंघन, रैकेट पटकने के कारण पेनल्टी प्वाइंट, अंपायर को चोर कहने के कारण चेयर अंपायर कार्लोस ने गेम पेनल्टी लगाई थी।