--Advertisement--

फुटबॉल विश्व कप में बेल्जियम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन, पहली बार तीसरे स्थान पर रहा; इंग्लैंड को 2-0 से हराया

इस विश्व कप में बेल्जियन 16 गोल के साथ टॉप स्कोरर, 12-12 गोल करने वाले इंग्लैंड और क्रोएशिया दूसरे नंबर पर

Danik Bhaskar | Jul 15, 2018, 08:45 AM IST
ब्रॉन्ज मेडल के साथ बेल्जियम की टीम। ब्रॉन्ज मेडल के साथ बेल्जियम की टीम।

  • म्यूनियर इस विश्व कप में बेल्जियम के लिए गोल करने वाले 10वें खिलाड़ी बने
  • विश्व कप में तीसरी बार किसी टीम के 10 खिलाड़ियों ने गोल किया
  • इससे पहले 1982 में फ्रांस और 2006 में इटली के 10 खिलाड़ियों ने ऐसा किया था

सेंट पीटर्सबर्ग (रूस). फुटबॉल विश्व कप में शनिवार को तीसरे स्थान के मैच में बेल्जियम ने इंग्लैंड को 3-0 से हरा दिया। उसे ब्रॉन्ज मेडल मिला। यह उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले वह 1986 विश्व कप में चौथे स्थान पर रहा था। बेल्जियम के थॉमस म्यूनियर ने चौथे मिनट में नासेर चाडली के क्रॉस पर गोल किया था। उनके बाद कप्तान इडेन हेजार्ड ने 82वें मिनट में टीम के लिए दूसरा गोल किया। यह उनका इस विश्व कप में तीसरा गोल है। वहीं इंग्लैंड दूसरी बार तीसरे स्थान के मैच में हार गया। वह 1990 में इटली से 2-1 के अंतर से हार गया था।

36 साल से यूरोपीय टीम ही तीसरे स्थान पर: 1982 से 10 बार यूरोपीय टीमों ने तीसरे स्थान के लिए हुए मैच को अपने नाम किया। इसमें से जर्मनी को छोड़कर 9 टीमें अगले यूरो कप में हिस्सा नहीं ले पाई। 2006 और 2010 में तीसरे स्थान पर रहने वाली जर्मनी की टीम ने 2008 और 2012 का यूरो कप भी खेला। बेल्जियम विश्व कप इतिहास की चौथी ऐसी टीम है जो 6 मैच जीतने के बावजूद खिताब नहीं जीत पाई। इससे पहले 1974 में पोलैंड और 1990 में इटली तीसरे स्थान पर रही थी। 2010 में नीदरलैंड उप-विजेता बनी थी।

बेल्जियम के पिछले 25 गोल में हेजार्ड का योगदान: इडेन हेजार्ड ने बेल्जियम के लिए पिछले 25 मुकाबलों में हुए 25 गोल में अपना योगदान दिया। इस दौरान उन्होंने 12 गोल किए और 13 गोल असिस्ट किए। उन्होंने इस विश्व कप में 3 गोल करने के साथ-साथ 4 गोल असिस्ट भी किया। बेल्जियम के लिए रोमेलु लुकाकू ने सबसे ज्यादा 4 गोल किए। वे इस विश्व कप में हैरी केन (6) के बाद दूसरे स्थान पर रहे।

दूसरी बार दो टीमें एक ही विश्व कप में आमने-सामने: इस विश्व कप में इंग्लैंड और बेल्जियम दूसरी बार एक-दूसरे से भिड़ीं। ग्रुप स्टेज में बेल्जियम ने इंग्लैंड को 1-0 से हराया था। हालांकि उस मैच में इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन टीम में नहीं थे। 2002 के बाद से विश्व कप में कोई भी दो टीमें दूसरी बार आमने-सामने हुईं। इससे पहले 2002 में ब्राजील और तुर्की ने एक-दूसरे के खिलाफ 2-2 मैच खेले थे।

इंग्लैंड 15 प्रयास के बावजूद एक भी गोल नहीं कर सका

टीम गोल का प्रयास कॉर्नर बॉल पजेशन पास पास एक्यूरेसी यलो कार्ड
बेल्जियम 12 4 43% 513 88% 1
इंग्लैंड 15 5 57% 699

92%

2

टीमें:

इंग्लैंड (शुरुआती एकादश): जॉर्डन पिकफोर्ड, डैनी रोज, एरिक डियर, जॉन स्टोंस, हैरी मैगुएर, हैरी केन, डेले अली, एश्ले यंग, फिल जोंस, फैबियन डेल्फ, रुबेन लोफ्टस-चीक।
बेल्जियम (शुरुआती एकादश): थिबॉट कटरेआ, टोबी आल्डरवाइल्ड, विंसेंट कोंपेनी, जन वर्टोंगन, एक्सेल विस्टल, केविन डी ब्रुइन, रोमेलु लुकाकू, इडेन हेजार्ड, थॉमस म्यूनियर, यूरी टिलेमैन, नासेर चेडली।

गोल करने के बाद खुशी मनाते बेल्जियम के कप्तान इडेन हेजार्ड। गोल करने के बाद खुशी मनाते बेल्जियम के कप्तान इडेन हेजार्ड।
गोल करने के बाद खुशी मनाते बेल्जियम के म्यूनियर। गोल करने के बाद खुशी मनाते बेल्जियम के म्यूनियर।
इंग्लैंड के कोच गैरेथ साउथगेट की तरह कपड़े पहन कर मैच देखने पहुंचा एक बच्चा। इंग्लैंड के कोच गैरेथ साउथगेट की तरह कपड़े पहन कर मैच देखने पहुंचा एक बच्चा।